"बोसॉन": अवतरणों में अंतर

17 बाइट्स जोड़े गए ,  10 वर्ष पहले
छो
r2.7.3) (Robot: Adding yo:Bósónì; अंगराग परिवर्तन
छो (r2.7.1) (Robot: Adding war:Boson)
छो (r2.7.3) (Robot: Adding yo:Bósónì; अंगराग परिवर्तन)
'''बोसॉन''' (Boson):- वे कण जो [[बोस-आइंस्टीन साँख्यिकी]] का पालन करते है और जिनकी [[स्पिन]] ( ०,१,२,---) होती है, '''बोसॉन''' कहलाते है। मूलभूत बलो को संजोकर रखने वाले सभी उर्जा वाहक कण ( [[ फोटॉन]] , [[ग्लुऑन]] , [[गेज बोसॉन]]) '''बोसॉन''' होते है। वे संयोजित कण जिनमे [[फर्मिऑन]] की संख्या सम होती है, '''बोसॉन''' कहलाते है, उदाहरण - [[मेसॉन]]। किसी भी [[परमाणु]] का [[नाभिक]] [[फर्मिऑन]] है अथवा '''बोसॉन''', यह इस बात पर निर्भर करता है कि उसमें मौजूद [[प्रोटॉन]] व [[न्यूट्रॉन]] का योग सम है अथवा विषम।
 
शीत [[हीलियम]] , जिसकी [[श्यानता]] (viscosity) शून्य होती है, का विचित्र व्यवहार होता है कि यह अपने में आरपार आ जा सकता है। इसका यह व्यवहार बोसॉनिक गुण के कारण होता है, चूंकि इसका [[नाभिक]] '''बोसॉन''' होता है और [[पॉली एक्सक्ल्युसन सिद्धान्त]] का पालन करने बाध्य नहीं होता इसलीए यह अपने में आरपार गुजर सकता है।
[[vi:Boson]]
[[war:Boson]]
[[yo:Bósónì]]
[[zh:玻色子]]