"भित्तिचित्र कला" के अवतरणों में अंतर

602 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
Krishan1989 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 1878014 को पूर्ववत करें
(Krishan1989 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 1878014 को पूर्ववत करें)
भितिचित्र कला ज्यादातर छत्तीसगढ़ के जिला सरगुजा, तहसील अंबिकापुर के अंतर्गत आने वाले गांवों जैसे पुहपुटरा,लखनपुर, केनापारा आदि में लोक एवं आदिवासी जातियों द्वारा अभ्यास की जाने वाली ऐसी लोक कला है जो गांव की औरतों के द्वारा वहां की कच्ची मिट्टी से बनी झोपड़ियों की दीवारों पर गोबर, चाक मिट्टी, कुँओंगोबर सेआदि निकलीको खड़ियामिलाकर मिट्टी,की फेविकोलजाती है। सुदूर आदिवासीय क्षेत्रों में जहाँ कि सजावट आदि के साधन अपर्याप्त होते थे, मिट्टीलोग वहाँ प्रचलित विभिन्न त्योहारों व धार्मिक अवसरों के रंगोंसमय एवंअपने नारियलघरों की रस्सीसज्जा हेतु दीवारों में कच्ची मिट्टी द्चारा पेड़-पौधों, पशु-पक्षियों आदि के द्वाराआकृतियां बनाकर बनाई जातीउनमें है। बहुत ही मनोरम रंगों से रंगकर अपने घरों को सजाते हैं।
147

सम्पादन