"अ" के अवतरणों में अंतर

362 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
'''अ''' [[देवनागरी]] लिपि का पहला [[वर्ण]] तथा [[संस्कृत]], [[हिंदी]], [[मराठी]], [[नेपाली]] आदि भाषाओं की वर्णमाला का पहला [[अक्षर]] एवं [[ध्वनि]] है। यह एक [[स्वर]] है। यह कंठ्य वर्ण है। । इसका उच्चारण स्थान कंठ है। इसकी ध्वनि को [[भाषाविज्ञान]] में [[श्वा]] कहा जाता है।
== विशेष ==
अक्षरों में यह सबसे श्रेष्ठ माना जाता हैं । उपनिषदों में इसकी बडी महिमा लिखी है । तंत्रशास्त्र के अनुसार यह वर्णमाला का पहला अक्षर इसलिये है कि यह सृष्टि उत्पन्न करने के पहले सृष्टिवर्त की आकुल अवस्था को सूचित करता है ।
 
== साहित्यिक प्रयोग ==
संस्कृत ग्रंथ श्रीमद्भग्वद्गीता में कृष्ण स्वयं को अक्षरों में अकार कहते हैं- 'अक्षराणामकारोस्मि'।
72

सम्पादन