"सौर मण्डल" के अवतरणों में अंतर

1,229 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
Added "Graha mandal"
(Added "Graha mandal")
}}
 
'''सौर मंडल''' मे [[सूर्य]] और वह [[खगोलीय पिंड]] सम्मलित हैं, जो इस मंडल मे एक दूसरे से [[गुरुत्वाकर्षण]] बल द्वारा बंधे हैं। किसी [[तारे]] के इर्द गिर्द परिक्रमा करते हुई उन [[खगोलीय वस्तुओं]] के समूह को '''ग्रहीय मण्डल''' कहा जाता है जो अन्य तारे न हों, जैसे की [[ग्रह]], [[बौने ग्रह]], [[प्राकृतिक उपग्रह]], [[क्षुद्रग्रह]], [[उल्का]], [[धूमकेतु]] और [[खगोलीय धूल]]।<ref>p. 394, ''The Universal Book of Astronomy, from the Andromeda Galaxy to the Zone of Avoidance'', David J. Dsrling, Hoboken, New Jersey: Wiley, 2004. ISBN 0471265691.</ref><ref>p. 314, ''Collins Dictionary of Astronomy'', Valerie Illingworth, London: Collins, 2000. ISBN 0-00-710297-6.</ref> हमारे [[सूरज]] और उसके ग्रहीय मण्डल को मिलाकर हमारा [[सौर मण्डल]] बनता है।<ref>p. 382, ''Collins Dictionary of Astronomy''.</ref><ref>p. 420, ''A Dictionary of Astronomy'', Ian Ridpath, Oxford, New York: Oxford University Press, 2003. ISBN 0-19-860513-7.</ref> इन पिंडों मे आठ [[ग्रह]], उनके 166 ज्ञात उपग्रह, पाँच [[बौना ग्रह|बौने ग्रह]] और अरबों छोटे पिंड शामिल हैं। इन छोटे पिंडों मे [[क्षुद्रग्रह]], बर्फ़ीला [[काइपर घेरा]] के पिंड, [[धूमकेतु]], [[उल्का|उल्कायें]], और ग्रहों के बीच की धूल शामिल हैं।
 
:
सौर मंडल के चार छोटे आंतरिक ग्रह बुध, शुक्र, पृथ्वी और मंगल ग्रह जिन्हें [[स्थलीय ग्रह]] कहा जाता है, मुख्यतया पत्थर और धातु से बने हैं। और [[क्षुद्रग्रह घेरा‎]] चार विशाल गैस से बने बाहरी [[गैस दानव]] ग्रह, काइपर घेरा और [[बिखरा चक्र]] शामिल हैं। काल्पनिक [[और्ट बादल]] भी सनदी क्षेत्रों से लगभग एक हजार गुना दूरी से परे मौजूद हो सकता है।
 
1,735

सम्पादन