"कोथ": अवतरणों में अंतर

6 बाइट्स हटाए गए ,  10 वर्ष पहले
छो
Robot: Interwiki standardization; अंगराग परिवर्तन
छो (r2.7.3) (Robot: Adding mk:Гангрена)
छो (Robot: Interwiki standardization; अंगराग परिवर्तन)
क- बरजर का रोग [burger's disease]
 
यह व्याधि अधिक्तर पुरुषो मे पायी जाती ह । धुम्रपान से,अधिक उम्र मे calcium के जमा होने से तथा ह्र्द्यान्त्रावरण शोफ् से उत्पन्न अन्तः शल्यता आदि कारणॉ से धमनियो मे शोफ तथा एन्ठन उत्पन्न हो जाती ह् । इससे धमनियो मे सन्कोच होकर धमनियो का विवर कम हो जाता ह । इस रोग से प्रभवित स्थान पर रक्त कि न्युनता होकर कोथ उत्पन्न होती ह्।
 
ख - रेनाड का रोग [ raynaud's disease]
 
यह व्याधि प्रायः स्त्रियो मे होती ह । शाखाओ कि धमनिया शीत के प्रति सूक्ष्म ग्राही होने पर धमनियो मे एन्ठन तथा सन्कोच उत्पन्न हो जाता ह। इससे रक्त प्रवाह मन्द पड जाता ह तथा रक्त्त वाहिका के अन्तिम पूर्ति प्रान्त मे रक्त न्युन्ता होकर कोथ उत्पन्न हो जाती ह ।
 
ग- सिराओ की विकति -
च- सन्क्रमण -
 
कोथ के जीवाणू प्रोटीन का विघटन करते ह तथा अमोनिया और sulphurated hydrogen उत्पन्न करते ह। इनका व्रण पर सन्क्रमण होने से उनसे उत्पन्न हुई gas पेशियो मे भर जाती ह । इसक रक्त वाहिनियो पर दाब पडने से उन्मे रक्त अल्पता उत्पन्न होकर कोथ उत्पन्न हो जाती ह।
 
== लक्षण==
'''सार्वदेहिक'''
 
१) कोथ से प्रभावित अग के क्रियाशिल होने पर , उक्तियो मे oxygen कि न्युन्ता हो जाती ह , इससे पेशियो मे एन्ठन आती ह तथा तीव्र वेदना होने लगती ह्।
 
२)रक्त सन्चार मे मन्द्ता आ जाने से प्रभावित अग मे विश्राम काल भि वेदना रेहती ह ।
सिर मे अन्तः शल्य (embolus) होने पर उसका छेदन कर्म कर दे। कटी हुइ धमनी का सन्धान कर दे। Heparin के सुचिवेध द्वारा रक्त्स्कन्दन कि क्रिया को दबाये रखे तथा धमानियो को प्रसारित अवस्था मे रखे (by ponicol i.e. Nicotinyl alcohol tartarate 25 to 50 mgs. orally 4 times daily)। सीम निर्धारण रेखा बनने पर amputation कर देना चाहिये।
 
४) यदि कोथ सन्क्रमण युक्त हो तो व्रण को eusol and hydrogen peroxide से प्रक्षलन करे। रोगी को inj. anti gas gangrene serum 50,000 to 100,0000 units दे। infection होने पर polyvalent antitoxin 12,500 units I.M दे या अन्य प्रतिजिवाणू औषधिया देनी चाहिये।
 
==सन्दर्भ ग्रन्थ==
* सुश्रुत सन्हिता ,
* शल्य प्रदिपिका - डॉ स्वरूप शर्मा
* शल्य समन्वय- वैद्य अनन्त राम शर्मा, क्लिनिकल शल्यतन्त्र
 
[[श्रेणी:रोग]]
74,334

सम्पादन