"अंदाज़ अपना अपना" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
| imdb_id = ०१०९११७
}}
'''अंदाज़ अपना अपना''' 1994१९९४ में बनी [[हिन्दी भाषा]] की फिल्म है ।
 
 
 
== संक्षेप ==
भोपाल के दो लड़के हैं- अमर और प्रेम | दोनों एक दूसरे को नहीं जानते; मगर दोनों में एक बात समान है | दोनों बेकार, निखट्टू और गैर-जिम्मेदार हैं | दोनों के बाप उन दोनों से परेशां हैं | इसी बीच अखबार में एक खबर छपती है कि लन्दन में रहने वाले एन.आर.आई. करोड़पति राम गोपाल बजाज कि इकलौती बेटी रवीना बजाज अपने लिए योग्य दुल्हे की तलाश में भारत आई है, और ऊटी में रुकी है | अमर और प्रेम दोनों रवीना से शादी करने की इच्छा से ऊटी जाते हैं | इसी बीच दोनों में दोस्ती और दुश्मनी की परिस्थितियों में कुछ चुटीले दृश्य बनते हैं | इसी दौरान अमर-प्रेम दोनों अपने अपने जीवन-साथियों को तो पाते ही हैं, राम गोपाल बजाज कि संपत्ति के पीछे पड़े कुछ अपराधियों के चक्कर में भी फंस जाते हैं. इन अपराधियों में सबसे प्रमुख है, तेजा (उर्फ श्याम गोपाल बजाज) और क्राईम मास्टर गोगो (जो प्रसिद्द अपराधी मोगाम्बो का भतीजा है) | अपने रोमांटिक जीवन की परेशानियों से पार पाते हुए ये दोनों किस प्रकार इन अपराधियों से टकराते हैं, इसी स्थिति पर इस फिल्म की कहानी आगे बढती है |
139

सम्पादन