"मैराथन" के अवतरणों में अंतर

29 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
आखिरी कुछ मीलों के ले के थोड़ा विरोध हुआ क्योंकि वहाँ ट्राम का रास्ता और पत्थर थे, अतः रास्ता बदल के [[वर्मवुड स्क्रब्स]] उसे के खुरदुरा रास्ते से गुज़ारा गया। इससे रास्ता लंबा हो गया। दौड़ की शुरुआत को [[विंडसर किला|विंडसर किले]] के पास की [[रानी विक्टोरिया]] की मूर्ति से {{convert|700|yd|m}} दूर से शुरू करने के फ़ैसले से भी रास्ता और लंबा हुआ। अतः यह निश्चित हुआ कि स्टेडियम तक की दूरी {{convert|26|mi}} रहेगी, और फिर शाही प्रवेशद्वार से घुसते हुए ट्रैक का एक चक्कर (586 गज़ 2 फ़ुट)<ref name='ISOH'/> लगा के शाही छज्जे पर दौड़ की समाप्ति होगी। पॉलीटेक्निक हैरियर्स द्वारा आयोजित 25 अप्रैल 1908 के आधिकारिक आजमाइशी मैराथन के लिए दौड़ की शुरुआत 'द लांग वाक' से हुई, यह एक शानदार छायादार मार्ग है जो कि [[विंडसर किला|विंडसर किले]] में [[विंडसर ग्रेट पार्क]] के मैदान तक ले जाता है। वास्तविक ओलंपिक मैराथन के लिए शुरुआत [[राजा एडवर्ड अष्टम]] की इजाज़त ले के [[विंडसर किला|विंडसर किले]] के निजी पूर्वी चबूतरे से हुई ताकि आम जनता दौड़ की शुरुआत में बाधा न डाले।<ref name='ISOH'/> वेल्स की राजकुमारी [[टेक की मैरी]] और उनके बच्चे, [[विंडसर ग्रेट पार्क]] के दूसरे छोर पर [[फ़्रागमोर]] में अपने घर से सवार हो के दौड़ की शरुआत देखने आए। <ref name='ISOH'/><ref name='diary'>The Princess of Wales' private diary and press reports</ref> खेल शुरू होने के कुछ समय पहले यह भान हुआ कि शाही प्रवेशद्वार को मैराथन का प्रवेश नहीं बनाया जा सकता था- उसको ज़्यादा ऊँचाई दी गई थी ताकि शाही सवारियाँ अपनी गाड़ियों से आसानी से उतर सकें, और यह दौड़ने के रास्ते पर नहीं खुलती थी, अतः दूसरा प्रवेश द्वार चुना गया जो कि शाही बक्से के दूसरे कोने पर था। [[फ़्रैंको ब्रिटिश प्रदर्शनी]] मैदान के ठीक बाहर एक विशेष रास्ता बनाया गया ताकि स्टेडियम तक की दूरी 26 मील रहे। दौड़ खत्म होने की लकीर वही रही, लेकिन दर्शकों, जिनमें [[डेनमार्क की सिकंदरिया]] रानी भी शामिल थी को आखिरी गज़ों का अच्छा नज़ारा दिखाने के मद्देनज़र दौड़ने की दिशा "दाईं तरफ़" (घड़ी की सुई की दिशा) हो गई। इसका मतलब यह हुआ कि स्टेडियम में अंदर की दूरी 385 ही रह गई और कुल दूरी 26 मील 385 गज़ (42.195 किमी) हुई।<ref name='ISOH'/>
 
1912 के अगले ओलंपिक में यह लंबाई बदल के 40.2 किमी (24.98 मील) कर दी गई और फिर 1920 के ओलंपिक में 72.75 मील (26.56 किमी)। अंततः 1924 के ओलंपिक में 1908 वाली दूरी नियत हुई। पहले सात [[ओलंपिक खेल|ओलंपिक खेलों]]ों में 40 से 42.75 किलोमीटर (या 24.85 और 26.56 मील) के बीच की छः अलग अलग लंबाइयाँ रहीं (40 किमी का दो बार इस्तेमाल हुआ)।
 
 
2,139

सम्पादन