"गिलगित-बल्तिस्तान" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
| footnotes =
}}
'''गिलगित-बल्तिस्तान''' ([[उर्दू]]: گلگت – بلتستان), [[पाकिस्तान]] के भीतर एक स्वायत्तशासी क्षेत्र है जिसे पूर्व में '''उत्तरी क्षेत्र''' (उर्दू: شمالی علاقہ جات, ''शुमाली इलाक़े जात'') के नाम से जाना जाता था। यह पाकिस्तान के सबसे उत्तर में स्थित राजनीतिक इकाई है। इसकी सीमायें पश्चिम में [[खैबर-पख़्तूनख्वा]] से, उत्तर में [[अफगानिस्तान]] के [[वाख़नवाख़ान गलियारा|वाख़नवाख़ान गलियारे]], उत्तरपूर्व में [[चीन]], दक्षिण में [[आजाद कश्मीर]] और दक्षिणपूर्व में भारतीय राज्य [[जम्मू और कश्मीर]] से मिलती हैं। गिलगित-बल्तिस्तान का कुल क्षेत्रफल 72,971 वर्ग किमी (28,174 मील²) और अनुमानित जनसंख्या दस लाख के लगभग है। इसका प्रशासनिक केन्द्र [[गिलगित]] शहर है, जिसकी जनसंख्या लगभग 250000 है।
 
[[1970]] में "उत्तरी क्षेत्र” नामक यह प्रशासनिक इकाई, [[गिलगित एजेंसी]], लद्दाख़ वज़ारत का [[बल्तिस्तान ज़िला]], [[हुन्ज़ा]] तथा [[नगर]] नामक राज्यों के विलय के पश्चात अस्तित्व में आई थी। पाकिस्तान इस क्षेत्र को विवादित कश्मीर के क्षेत्र से पृथक क्षेत्र मानता है जबकि [[भारत]] और [[यूरोपीय संघ]] के अनुसार यह कश्मीर के वृहत विवादित क्षेत्र का ही हिस्सा है। कश्मीर का यह वृहत क्षेत्र सन 1947 के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद का विषय है।