"अंग्रेजी शब्दकोशों का इतिहास" के अवतरणों में अंतर

छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
१६६० तक के प्रकाशित कोशों की निर्माण संबंधी आवश्यकताओं में कदाचित् तात्कालिक प्रयोजन का सर्वाधिक महत्व था विशिष्ट महिलाओं यो अध्ययनशील विदुषियों को सहायता देना । बाद में चलकर कोशनिर्माण का इस प्ररणा का निर्देश नहीं मिलता । १७०२ ई० से १७०७ तेक 'लासोग्राफिया' के अनेक संस्करण छपे । एडवर्ड फिलाप्स का काश भी बाद क संस्करणों में अधिक महत्वपूर्ण हो गया । एशिसाकोत्स और एडवर्ड पार्कर के कोश भी इसी समय के आसपास छपे जिनका पुनर्मुद्रण बीसवीं शती तक भी होता रहा । जाँन करेन्सी ने भी 'डिक्शनेरियम एंग्लोब्रिटेनिकन' या 'जनरल इंग्लिश डिक्शनरी' निर्मित की जिसमें पुराने (प्रयोगलुप्त) शब्दों की पर्याप्त संख्या थी ।
 
== नैथन बेली ==
सौ वर्षों तक अंग्रेजी की कोशरचना का उपरोक्त क्रम चलता रहा जिनके शब्दसंकलन में विशिष्ट शब्दों की ही मुख्यता बनी रही । भाषा में प्रयुक्त समस्त सामान्य और विशिष्ट शब्दों का कोश बनाने में विद्वान् प्रवृत्त नहीं हुए थे । '[[नैथन वेली]]' ने सर्वप्रथम ऐसे कोशके निर्माण की योजना बनाई जिसमें अंग्रेजी के समस्त शब्दों के समावेश का प्रयास किया गया । इसका नाम था '''युनिवर्सल इटिमाँलाजिकल इंगिलिश डिक्शनरी''' । इसमें अनेक विशेषताएँ थी । संकलित शब्दों के विकासक्रम का संकेत दिया गया था । साथ ही इसमें व्युत्पत्ति देने की भी चेष्टा की गई । १७२९ में इसका प्रथम संस्करण प्रकाशित हुआ । १७३९ में प्रकाशित दूसरे संस्करण में शब्दों के उच्चारणबोधक संकेत भी इ समें दिए गए । अंग्रेजी के कोशज्ञ विद्वानों द्वारा यह कोश अत्यंत महत्वपूर्ण अंग्रेजी डिक्शनरी माना जाता है । पहला कारण यह था कि डा० जानसन द्वारा निर्मित ऐतिहासिक महत्व के अंग्रेजी कोश की यह साधारशिला बनी । दूसरा कारण यह था कि इसमें समस्त अंग्रेजी शब्दों के वयाशक्ति संकलन का लक्ष्य पहली बार रखा गया । तीसरा कारण व्युत्पत्ति निर्देश करने और उच्चारणसंकेत देने की पद्धति के प्रवर्तन का प्रायास था ।
 
== जाँनसन का अंग्रेजी कोश (१७४७ — १७५५ ई०) ==
इठली और फांस एकेडमीशियनों द्वारा ऐसले प्रामाणिक कोशों की रचना का कार्यक्रम प्रवर्तित हो गया था जिनमें परिनिष्ठित भाषा के मान्यताप्राप्त प्रयोगरुपों का स्थिरीकरणऔर प्रमाणीकरण किया जा सके । जर्मन, स्पेनी, फ्रांसीसी और इताली भाषाओं में ऐसे कोशों की रचना का प्रयास चल रहा था ।
 
इसके बाद १८वीं शती के अंत तक अंग्रेजी में अनेक कोश बने । विलियम कर्निक, विलियम पैरी, टामस शेरिडन और जान वाकर ने उच्चारण आदि की समस्या को सुलझाने का प्रयत्न किया । इन कोशों को 'जोँनसन ' के कोश का संक्षिप्त या लघु संस्करण कहा गया है । उच्चारण का ठीक ठीक स्वरुप बताने का कार्य समस्यात्मक था । उसका पूर्णतः समाधान करने की चेष्टा 'जांनसन' या बाद के कोशकारों ने की । जौंन वाकर ने उक्त दिशा में विशेष प्रयत्न किया । इन कारणों से 'जोंनसन' के कोश की कुछ आलोचना भी होती रही । पर १९ वीं शती के पूर्वार्ध से उसका संमान बढ़ गया, उसकी महत्ता स्वीकृत हो गई । उसमें नए शब्दों, अर्थों, उद्धरणों आदि के परिवर्धन- कारी परिशिष्टों कों, अनेक विद्वानों की सहायता से जोड़कर उक्त कोश के संशोधित और संवर्धित संस्करण प्रकाशित होते रहे । १८९८ में ऐसी ही एक संस्करण प्रकाशित हुआ जो अब तक मान्य बना हुआ है ।
 
== वेब्स्टर का अमरीकी अंग्रेजी का शब्दकोश ==
इंग्लिस्तानियों के अंग्रेजी प्रयोगों से अमेरिकनों की अंग्रेजी को स्वतंत्र देखकर [[वेब्स्टर]] ने अमेरिकी अंग्रेजी का एक महत्वपूर्ण कोश बनाया । परंतु उनके कोश की बहुत सी व्युत्पत्तियाँ ऐतिहासिक प्रमाणो पर आधारित न होकर निज की स्वतंत्र कल्पना से आविष्कृत थीं । बाद के संस्करणों में भाषाविज्ञों ने उनका संशोधन कर दिया । आज भी वेब्स्टर के इस कोश का दो जिल्दों में 'इन्टरनैशनल' संस्करण प्रकाशित होता है और कुछ दृष्टियों से इसका आज भी महत्व बना हुआ है ।
 
== रिचर्डसन का शब्दकोश ==
इस युग का दूसरा कोशकार रिचर्डसन था । उसके कोश में उद्धरणों के द्वारा शब्दार्थबोध की युक्ति महत्वपूर्ण मानी गई और अर्थबोधक परिभाषाओं को हटाकर केवल उद्धरणों से अर्थ-प्रहत्यायन की पद्धति अपनाई गई । जांनसन से भी आगे बढ़कर - १३०० ईस्वी के पूर्ववर्ती [[चासर]], [[गोवर]] आदि कलाकारों के लेखखंडों को उसने उदवृत किया । परंतु उद्धरणों की तिथि उन्होने नहीं दी । व्यावहारिक दृष्टि से श्रमसाध्य, अधिक व्यय-समय-साध्य यह पद्धति शब्दकोश से अर्थज्ञान की कामना करनेवाले पाठकों के लिये उपयोगी और सुविधाजनक न हुई । सामान्य पाठकों के लिये यह अति क्लिष्ट भी थी तथा अर्थ तक पहुँचने में समय भी बहुत लगता था । फिर भी कभी-कभी अनिश्चय रह ही जाता था । जनता में अधिक उपयोगी और लोकप्रिय न होने परह भी इस कोश से एक बडा भारी लाभ हुआ । प्राचीन और प्रसिद्ध लेखकों के अत्यधिक उद्धरणों का इसमें संकलन हो गवा और वले स्थायी रूप में सुरक्षित भी हो गए ।
 
== आक्सफोर्ड डिक्शनरी: योजना और निर्माण ==
 
विस्तृत लेख के लिये '''[[आक्सफोर्ड डिक्शनरी]]''' देखें।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[शब्दकोश]]
* [[शब्दकोशों का इतिहास]]
 
[[श्रेणी:शब्दकोश]]
74,334

सम्पादन