"अति निम्न आवृत्ति (VLF)": अवतरणों में अंतर

छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (r2.7.2) (Robot: Adding vi:Tần số rất thấp)
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
[[चित्र:VLFatPalmer.JPG|225px|thumb|right|A VLF receiving antenna at Palmer Station, Antarctica, operated by Stanford University]]
 
'''अति निम्न आवृत्ति ''' या '''VLF''' वे [[रेडियो आवृत्ति]] होती हैं, जो 3 [[किलोहर्ट्ज़]] से 30 [[kHz]] के मध्य आती हैं । क्योंकि इसकी आवेष्ट विशदता (बैण्ड्आ विड्थ) बहुत अधिक नहीं होती, अतः सरलतम संकेत हेतु प्रयोग की जाती हैं, जैसे रेडियो नौवहन । इसे माइरियामीटर पट्टी या तरंग भी कहते हैं । इसकी दैर्घ्य दस से एक [[माइरियामीटर]] होता है ।
 
== अनुप्रयोग ==
[[चित्र:Grimetonmasterna.jpg|thumb|right|Part of the [[antenna (radio)|aerial]] of Transmitter Grimeton]]
* ये तरंगें जल में 10 to 40 [[मीटर]] (यानी 30 से 130 [[फुट]]) लगभग तक जा सकती हैं । यह पानी की लवणीय एवं इनकी आवृत्ति पर भी निर्भर करता है । इन्हें पनडुब्बियों से संचार हेतु प्रयोग किया जाता है । जल की सतह पर अति निम्न आवृत्ति, एवं गहराई में अत्यधिक निम्न आवृत्ति (ELF) का प्रयोग होता है ।
* इनका अनुप्रयोग रेडियो नौवहन बीकन (अल्फा) एवं समय संकेत (बीटा) में भी होता है ।
*इन्हें इन्हें विद्युत चुम्बकीय भू-भौतिकीय सर्वेक्षन में । [http://www.geonics.com/html/vlfsystems.html]
 
{{विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम}}
74,334

सम्पादन