"केशवचन्द्र सेन": अवतरणों में अंतर

9 बाइट्स जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (→‎बाहरी कड़ियाँ: {{रामकृष्ण परमहंस}})
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
 
[[चित्र:Keshab Chandra Sen.png|right|thumb|350px|समाज सुधारक '''केशवचन्द्र सेन''']]
'''केशवचन्द्र सेन''' ([[बंगला]] : কেশব চন্দ্র সেন केशोब चोन्दो शेन) ( 19 नवम्बर, 1838 - 8 जनवरी, 1884) [[बंगाल]] के धार्मिक उपदेशक एवं समाज सुधारक थे। [[ब्रह्मसमाज]] के अंतर्गत केशवचंद्र सेन के आगमन के साथ द्रुत गति से प्रसार पानेवाले इस आध्यात्मिक आंदोलन के सबसे गतिशील अध्याय का आरंभ हुआ। केशवचन्द्र सेन ने ही [[आर्यसमाज]] के संस्थापक [[स्वामी दयानन्द सरस्वती]] को सलाह दी की वे [[सत्यार्थ प्रकाश]] की रचना [[हिन्दी]] में करें।
 
== परिचय ==
केशवचंद्र सेन का जन्म 19 नवंबर, 1838 को [[कोलकाता|कलकत्ता]] में हुआ। उनके पिता प्यारेमोहन प्रसिद्ध वैष्णव एवं विद्वान् दीवान रामकमल के पुत्र थे। बाल्यावस्था से ही केशवचंद्र का उच्च आध्यात्मिक जीवन था। महर्षि ने उचित ही उन्हें ब्रह्मानंद की संज्ञा दी तथा उन्हें समाज का आचार्य बनाया। केशवचंद्र के आकर्षक व्यक्तित्व ने ब्रह्मसमाज आंदोलन को स्फूर्ति प्रदान की। उन्होंने भारत के शैक्षिक, सामाजिक तथा आध्यात्मिक पुनर्जनन में चिरस्थायी योग दिया। केशवचंद्र के सतत अग्रगामी दृष्टिकोण एवं क्रियाकलापों के साथ-साथ चल सकना देवेंद्रनाथ के लिए कठिन था, यद्यपि दोनों महानुभावों की भावना में सदैव मतैक्य था। 1866 में केशवचंद्र ने '''भारतवर्षीय ब्रह्मसमाज''' की स्थापना की। इसपर देवेंद्रनाथ ने अपने समाज का नाम '''आदि ब्रह्मसमाज''' रख दिया।
 
केशवचंद्र 1884 में दिवंगत हुए।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[राजा राममोहन राय]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
* [http://www.hindu-school.com/ Hindu School, Kolkata - Web Site]
* [http://banglapedia.search.com.bd/HT/S_0191.htm The Banglapedia article on Keshub Chunder Sen]
* [http://www.indianpost.com/viewstamp.php/Paper/Watermarked%20paper/KESHAB%20CHANDRA%20SEN India Post page on Sen and the postage stamp released in his memory]
 
{{रामकृष्ण परमहंस}}
74,334

सम्पादन