"खण्डकाव्य" के अवतरणों में अंतर

5 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
वस्तुत: खंडकाव्य एक ऐसा पद्यबद्ध काव्य है जिसके कथानक में एकात्मक अन्विति हो; कथा में एकांगिता (साहित्य दर्पण के शब्दों में एकदेशीयता) हो तथा कथाविन्यास क्रम में आरंभ, विकास, चरम सीमा और निश्चित उद्देश्य में परिणति हो और वह आकार में लघु हो। लघुता के मापदंड के रूप में आठ से कम सर्गों के प्रबंधकाव्य को खंडकाव्य माना जाता है।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[काव्य]]
* [[महाकाव्य]]
* [[मुक्तक काव्य]]
 
[[श्रेणी:साहित्य]]
74,334

सम्पादन