"साबुत अनाज" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (Robot: Adding fi:Täysjyvä)
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
साबुत अनाज का सेवन करने वाले लोगों को [[मधुमेह]], [[हृदय रोग|कोरोनरी धमनी रोग]], पेट का [[कैंसर]] और [[उच्च रक्तचाप]] जैसे रोगों की आशंका कम हो जाती है।<ref name="हिन्दुस्तान"/> साबुत अनाज युक्त खाद्य पदार्थों का [[ग्लाइसेमिक इंडेक्स]] कम होता है, जिससे ये [[रक्त]] में [[शर्करा]] के स्तर को कम करते हैं। इनमें पाए जाने वाले फाइबर अंश पेट में गैस बनने की प्रक्रिया कम करते हैं एवं पेट में स्थिरता का आभास होता है, इसलिए ये शारीरिक वजन को कम करने में सहायता करते हैं। साबुत अनाज और साबुत दालें प्रतिदिन के आहार में अवश्य सम्मिलित करने चाहिये। धुली दाल के बजाय छिलके वाली दाल को वरीयता देनी चाहिये। साबत से बनाए गए ताजे उबले हुए [[चावल]], [[इडली]], [[उपमा]], [[डोसा]] आदि रिफाइन्ड अनाज से बने पैक किए उत्पादों जैसे पस्ता, नूडल्स आदि से कहीं बेहतर होते हैं। रोटी, बन और ब्रैड से ज्यादा अच्छी होती हैं।<ref name="हैल्दी इंडिया"/> रिफाइंड अनाज के मुकाबले साबुत अनाज वाले खाद्य पदार्थों से कार्डियोवस्क्युलर बीमारियों एवं पेट के कैंसर का खतरा कम हो जाता है।
 
== पकवान ==
साबत अनाज से विभिन्न प्रकार के व्यंजन तैया किये जाते हैं। जैसे गेहूं सेरोटी, पराठा, भाकरी, पूरी, दलिया, ब्रैड, आदि। मक्का से रोटी, भुट्टा, कॉर्नफ़्लेक्स और कार्नसूप आदि। रागी से लड्डू, रोटी, दलिया, डोसा एवं बाजारे की रोटी, ज्वार की रोटी, कूटू की रोटी, पूरी, मक्का के फ्लेग्स और ओटमील व अनेक अन्य व्यंजन बनते हैं।
== संदर्भ ==
{{reflist}}
* [http://healthy-india.org/Hindi/grains1.asp साबुत अनाज पूरे शरीर को बचाते हैं]
* [http://www.livehindustan.com/news/tayaarinews/tips/67-77-95339.html साबुत अनाज]।हिन्दुस्तान लाइव।८ फरवरी, २०१०
 
== बाहरी सूत्र ==
* [http://news.bbc.co.uk/1/hi/health/648199.stm बीबीसी समाचार से लेख]
* [http://www.aaccnet.org/definitions/wholegrain.asp साबुत अनाज की परिभाषा]
74,334

सम्पादन