"गिलगित-बल्तिस्तान" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
छो (r2.7.3) (Robot: Modifying cy:Gilgit–Baltistan, eu:Gilgit-Baltistan)
| name = गिलगित-बल्तिस्तान
| official_name = <!-- If different from name -->
| native_name = {{Nastaliq| گلگت - بلتستان}}<!-- If different from name -->
| native_name_lang = <!-- ISO 639-2 code e.g. "fr" for French. If more than one, use {{lang}} instead -->
| type = [[पाकिस्तान के प्रशासनिक क्षेत्र|प्रशासनिक इकाई]]
| footnotes =
}}
'''गिलगित-बल्तिस्तान''' ([[उर्दू]]: {{Nastaliq|گلگت بلتستان}}), [[पाकिस्तानपाक-अधिकृत कश्मीर]] के भीतर एक स्वायत्तशासी क्षेत्र है जिसे पूर्व मेंपहले '''उत्तरी क्षेत्र''' (उर्दू:या '''शुमाली इलाक़े''' ({{Nastaliq|شمالی علاقہ جات}}, ''शुमाली इलाक़े जात''इलाक़ाजात) के नाम से जाना जाता था। यह पाकिस्तान के सबसे उत्तर मेंकी स्थितउत्तरतम राजनीतिकराजनैतिक इकाई है। इसकी सीमायें पश्चिम में [[खैबर-पख़्तूनख्वा]] से, उत्तर में [[अफगानिस्तानअफ़ग़ानिस्तान]] के [[वाख़ान गलियारा|वाख़ान गलियारे]] से, उत्तरपूर्व में [[चीन]] के [[शिन्जियांग प्रान्त]] से, दक्षिण में [[आजादआज़ाद कश्मीर]] और दक्षिणपूर्व में भारतीय राज्य [[जम्मू और कश्मीर]] राज्य से मिलतीलगती हैं। गिलगित-बल्तिस्तान का कुल क्षेत्रफल 72,971 वर्ग किमी (28,174 मील²) और अनुमानित जनसंख्या लगभग दस लाख के लगभग है। इसका प्रशासनिक केन्द्र [[गिलगित]] शहर है, जिसकी जनसंख्या लगभग 2500002,50,000 है।
 
[[1970]] में "उत्तरी क्षेत्र” नामक यह प्रशासनिक इकाई, [[गिलगित एजेंसी]], लद्दाख़ वज़ारत का [[बल्तिस्तान ज़िला]], [[हुन्ज़ा]] तथाऔर [[नगर]] नामक राज्यों के विलय के पश्चात अस्तित्व में आई थी। पाकिस्तान इस क्षेत्र को विवादित कश्मीर के क्षेत्र से पृथक क्षेत्र मानता है जबकि [[भारत]] और [[यूरोपीय संघ]] के अनुसार यह कश्मीर के वृहत विवादित क्षेत्र का ही हिस्सा है। कश्मीर का यह वृहत क्षेत्र सन 1947 के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद का विषय है।
 
== इतिहास ==