"रतिमञ्जरी" के अवतरणों में अंतर

7 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (रतिमंजरी का नाम बदलकर रतिमञ्जरी कर दिया गया है)
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
यह [[गीत गोविन्द]] के रचयिता [[जयदेव]] द्वारा १२०० ईस्वी के आसपास संस्कृत भाषा में रचित लघु पुस्तिका है जिसमें [[कामसूत्र]] का सार संक्षेप प्रस्तुत किया गया है{{तथ्य}}।
== संबंधित कड़ियाँ ==
* [[जयदेव]]
* [[गीत गोविन्द]]
* [http://wikisource.org/wiki/श्रीजयदेवकृतौ_गीतगोविन्दे गीत गोविन्द] (विकिस्रोत पर)
* [http://wikisource.org/wiki/जयदेव जयदेव] (विकिस्रोत)
* [http://wikisource.org/wiki/रतिमंजरी रतिमंजरी] (विकिस्रोत)
 
==बाहरी कडियाँ==
74,334

सम्पादन