मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
 
भूगोलीय निर्देशांक प्रणाली को मुख्यत: तीन तरीकों से देखा जा सकता है।
* '''डाटाबेस''' : यह डाटाबेस संसार का अनन्य तरीके का डाटाबेस होता है। एक तरह से यह भूज्ञान की सूचना प्रणाली होती है। बुनियादी तौर पर भूसूप्रण (जीआईएस) प्रणाली मुख्यत: संरचनात्मक डाटाबेस पर आधारित होती है, जो कि विश्व के बारे में भौगोलिक शब्दों के आधार पर बताती है।
* '''मानचित्र''' : यह ऐसे मानचित्रों का समूह होता है जो पृथ्वी की सतह सबंधी बातें विस्तार से बताते है।
* '''प्रतिरूप''' : यह सूचना परिवर्तन उपकरणों का समूह होता है जिसके माध्यम से वर्तमान डाटाबेस द्वारा नया डाटाबेस बनाया जाता है।
74,334

सम्पादन