"मुक्तक" के अवतरणों में अंतर

4 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (→‎इन्हें भी देखें: removing cat उत्तम लेख)
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
'''मुक्तक''' [[काव्य]] या [[कविता]] का वह प्रकार है जिसमें प्रबन्धकीयता न हो। इसमें एक छन्द में कथित बात का दूसरे छन्द में कही गयी बात से कोई सम्बन्ध या तारतम्य होना आवश्यक नहीं है। [[कबीर दास|कबीर]] एवं [[रहीम]] के दोहे; [[मीराबाई]] के पद्य आदि सब मुक्तक रचनाएं हैं। [[हिन्दी]] के [[रीतिकाल]] में अधिकांश मुक्तक काव्यों की रचना हुई।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[काव्य]]
* [[महाकाव्य]]
* [[खण्डकाव्य]]
 
[[श्रेणी:काव्य]]
74,334

सम्पादन