"म्यान्मार" के अवतरणों में अंतर

2 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (r2.7.3) (Robot: Adding ba:Мьянма)
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
}}
 
'''ब्रह्मदेश''' [[एशिया]] का एक देश है। इसका आधुनिक अंग्रेजी नाम ''म्यांमार'' है। इसका पुराना अंग्रेज़ी नाम '''बर्मा''' था जो यहाँ के सर्वाधिक मात्रा में आबाद नस्ल बर्मी के नाम पर रखा गया था। इसके उत्तर में [[चीन]], पश्चिम में [[भारत]], [[बांग्लादेश]] एवंम् [[हिन्द महासागर]] तथा दक्षिण एवंम पूर्व की दिशा में [[इंडोनेशिया]] देश स्थित हैं। यह भारत एवम चीन के बीच एक रोधक राज्य का भी काम करता है। इसकी राजधानी [[नाएप्यीडॉ]] और सबसे बड़ा शहर देश की पूर्व राजधानी [[यंगून|यांगून]] है, जिसका पूर्व नाम [[रंगून]] था।
 
== नामकरण ==
== भूगोल ==
{{main|ब्रह्मदेश का भूगोल}}
ब्रह्मदेश [[दक्षिण पूर्व एशिया]] का सबसे बड़ा देश है, जिसका कुल क्षेत्रफ़ल ६,७८,५०० वर्ग किलोमीटर है। ब्रह्मदेश विश्व का चॉलीसवां सबसे बड़ा देश है। ब्रह्मदेश की उत्तर पश्चि्मी सीमाएं भारत के [[मिज़ोरम]], [[नागालॅण्ड]], [[मणिपुर]], [[अरुणाचल प्रदेश]] और बांग्लादेश के [[चटगाँव उपक्षेत्र|चिटगॉव]] प्रांत को मिलती है। उत्तर मे देश की सबसे लंबी सीमा तिब्ब्त और चीन के उनान प्रांत के साथ है। ब्रह्मदेश के दक्षिण-पूर्व मे ब्रह्मदेश [[लाओस]] ओर [[थाईलैंड]] देश है। ब्रह्मदेश की तट रेखा (१,९३० किलोमिटर) देश के कुल सीमा का एक तिहाई है। [[बंगाल की खाड़ी]] और [[अंडमान सागर]] देश के दक्षिण पश्चि्म और दक्षिण में क्रमशः पड़ते है। उत्तर में [[हेंगडुआन शान]] पर्वत [[चीन]] के साथ सीमा बनाते है।
 
ब्रह्मदेश में तीन पर्वत शृंखलाएं है जो कि हिमालय से शुरु होकर उत्तर से दक्षिण दिशा मे फ़ैली हुई है। इनका नाम है रखिने योमा, बागो योमा और शान पठार। यह श्रृंखला ब्रह्मदेश को तीन नदी तंत्र मे बांटती है। इनका नाम है [[ऎयारवाडी नदी|ऎयारवाडी]], [[सालवीन नदी|सालवीन]] और [[सीतांग नदी|सीतांग]]। [[ऎयारवाडी नदी|ऎयारवाडी]] ब्रह्मदेश कि सबसे लंबी नदी है। इसकी लंबाई २,१७० किलोमीटर है। [[मरतबन की खाड़ी]] मे गिरने से पहले यह नदी ब्रह्मदेश के सबसे उपजाऊ भुमि से हो कर गुजरती है। ब्रह्मदेश की अधिकतर जनसंख्या इसी नदी की घाटी मे निवास करती है जो कि रखिने योमा और शान पठार के बीच स्थित है।
 
देश का अधिकतम भाग [[कर्क रेखा]] और [[भूमध्य रेखा]] के बीच मे स्थित है। ब्रह्मदेश एशिया महाद्वीप के मानसून क्षेत्र मे स्थित है, सालाना यहॉ के तटिय क्षेत्रों में ५००० मिलीमीटर, डेल्टा भाग में लगभग २५०० मिलीमीटर और मध्य ब्रह्मदेश के शुष्क क्षेत्रों में १००० मिलीमीट वर्षा होती है।
== धरातल ==
धरातल के आधार पर इसे चार भागों में बाँटा जा सकता है :
* 1. '''उत्तरी तथा पश्चिमी पहाड़ी क्षेत्र''' - यह 6,000 से 20,000 फुट तक ऊँचा है। इसमें बंगाल की खाड़ी तथा आराकान योमा पर्वत के मध्य की आराकन पट्टी भी शामिल है।
 
* 2. '''पूर्व का शान उच्च प्रदेश''' - यह लगभग 3,000 फुट तक ऊँचा एक पठार है जो दक्षिण में टेनैसरिम योमा तक फैला है।
 
* 3. '''मध्य ब्रह्मदेश''' - यह देश का मुख्य कृषिप्रदेश है जो पूर्व में सैलवीन तथा पश्चिम में इरावदी तथा इसकी सहायक चिंद्विन आदि नदियों से घिरा है।
 
* 4. '''दक्षिण में इरावदी तथा सितांग नदियों का डेल्टा प्रदेश''' - इरावदी तथा सितांग की निम्न घाटी काफी उपजाऊ है। डेल्टा प्रदेश लगभग 10,000 वर्ग मील में फैला है। यह विश्व के बड़े धान उत्पादक क्षेत्रों में से एक है तथा यहाँ कई प्रसिद्ध बंदरगाह भी स्थित हैं। इरावदी नदी मैदान के पश्चिमी भाग से बहती हुई बंगाल की खाड़ी में गिरती है।
 
== जलवायु ==
 
== यह भी देखें ==
* [[बर्मी भाषा|म्यांमार भाषा]]
* [[बर्मी लिपि|म्यांमार लिपि]]
* [[बमर लोग]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
* [http://commons.wikimedia.org/wiki/Atlas_of_Burma विकिपीडिया कामंस पर ब्रह्मदेश के मानचित्र संग्रह ]
* [https://docs.google.com/open?id=0B06JOlm5x83YODY1OTg5NGUtZTY5Mi00MDE1LTg2MmYtMjQ0MzA5MmRkYTA3 ब्रह्मदेश लिपि से देवनागरी लिपि परिवर्तक] (डाउनलोड करें और किसी भी ब्राउजर में चलाएँ)
 
== संदर्भ ==
74,334

सम्पादन