मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

Reverted good faith edits by 14.139.128.12 (talk). (TW)
अगस्त 1962 को, संयुक्त राज्य अमेरिका को संदेह हुआ कि सोवियत संघ क्यूबा में मिसाइल सुविधाओं के निर्माण में लगा हुआ है. उसी महीने, इसकी खुफिया सेवाओं ने अपने जमीनी पर्यवेक्षकों द्वारा रूस-निर्मित मिग-21 (नाटो का दिया नाम ''फिशबेड'' ) लड़ाकू विमानों और Il-28 हल्के बमवर्षक विमानों के अड्डों की सूचना प्राप्त की. U-2 जासूसी विमानों ने आठ अलग-अलग स्थानों में जमीन से आकाश में मार करने वाली S-75 ड्विना (नाटो (NATO) का दिया नाम ''एसए-2'' ) (SA-2) मिसाइलों को पाया. 31 अगस्त को, सेनेटर केनेथ बी. कीटिंग ने सीनेट में कहा कि सोवियत संघ क्यूबा में संभवतः एक मिसाइल अड्डा बना रहा है; उन्हें शायद फ्लोरिडा<ref name="afmag">{{cite news|url=http://www.airforce-magazine.com/MagazineArchive/Pages/2005/August%202005/0805u2.aspx|title=Airpower and the Cuban Missile Crisis |last=Correll |first=John T. |date=August 2005|work=Vol. 88, No. 8|publisher=AirForce-Magazine.com|accessdate=4 May 2010}}</ref> में रह रहे क्यूबा के निर्वासितों से यह सूचना मिली थी.<ref name="franklin">{{cite web|url=http://andromeda.rutgers.edu/~hbf/missile.htm| title=The Cuban Missile Crisis: An In-Depth Chronology|last=Franklin |first=H. Bruce |accessdate=3 May 2010}}</ref> सीआईए (CIA) निदेशक जॉन ए मैककोन कई रिपोर्टों से संदिग्ध हुए. 10 अगस्त को उन्होंने राष्ट्रपति कैनेडी को एक ज्ञापन भेजा, जिसमें उन्होंने अनुमान लगाया गया कि सोवियत संघ क्यूबा में प्राक्षेपिक मिसाइल लगाने की तैयारी में है.<ref name="afmag" />
 
३४५== शक्ति संतुलन ==
 
जब कैनेडी 1960 में राष्ट्रपति चुनाव लड़ रहे थे तब उनका मुख्य मुद्दा था कथित रूप से अग्रणी रूस से "मिसाइल का अंतर". जबकि दरअसल, संयुक्त राज्य अमेरिका सोवियत संघ से आगे था. 1961 में, सोवियत संघ के पास सिर्फ चार अंतरमहाद्वीपीय प्राक्षेपिक मिसाइलें (ICBMs) थीं. अक्टूबर 1962 तक, उनके पास कुछ दर्जन भर होंगी, हालांकि कुछ खुफिया के अनुमान के अनुसार अधिक से अधिक 75 होंगी.<ref name="afmag" /> जबकि दूसरी ओर संयुक्त राज्य अमेरिका के पास 170 ICBMs थीं तथा उसने जल्द ही और भी बना लिया था. उसके पास आठ जॉर्ज वॉशिंगटन और एथान अलेन श्रेणी की प्राक्षेपिक मिसाइल पनडुब्बियां भी थीं, उनकी क्षमता {{convert|2200|km}} के रेंज के साथ प्रत्येक से 16 पोलारिस मिसाइलें छोड़ने की थी. ख्रुश्चेव ने मिसाइल अंतर की धारणा में वृद्धि की, जब उन्होंने जोर से दावा किया कि यूएसएसआर (USSR) "सौसेजेस जैसी" मिसाइलें बना रहा है, जिनकी संख्या और क्षमताएं वास्तविकता के करीब नहीं थीं. तथापि, सोवियत संघ के पास संख्या के हिसाब से मध्यम-दूरी की प्राक्षेपिक मिसाइलें जरुर थीं, लगभग 700.<ref name="afmag" /> 1970 में प्रकाशित अपने संस्मरण में ख्रुश्चेव ने लिखा था, "क्यूबा की रक्षा करने के अलावा, हमारी मिसाइलें बराबरी करने लगेंगी जिसे पश्चिम शक्ति संतुलन कहा करता है."<ref name="afmag" /><ref name="afmag" />
453

सम्पादन