"गाथा" के अवतरणों में अंतर

1,131 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
[[वैदिक साहित्य]] का यह महत्वपूर्ण शब्द [[ऋग्वेद]] की [[संहिता]] में गीत या [[मंत्र]] के अर्थ में प्रयुक्त हुआ है (ऋग्वेद 8।32।1, 8।71।14)। गै (गाना) धातु से निष्पन्न होने के कारण गीत ही इसका व्युत्पत्तिलभ्य तथा प्राचीनतम अर्थ प्रतीत होता है। १. स्तुति । २. वह श्लोक जिसमें स्वर का नियम न हो । ३. प्राचीन काल की एक प्रकार की ऐतिहासिक रचना जिसमें लोगों के दान, यज्ञादि का वर्णन होता था । ४. आर्या नाम का वृत्ति । ५. एक प्रकार की प्राचीन भाषा जिसमें संस्कृत के साथ कहीं कहीं पाली भाषा के विकृत शब्द भी मिले रहते हैं । ६. श्लोक । ७. गीत । ८. कथा । वृत्तात । हाल । ९. बारह प्रकार के बौद्ध शास्त्रों में चौथा । १०. पारसियों के कारण धर्मग्रंथ का एक भेद । जैसे,—गाथा अह्रवैति गाथा उष्टवैति इत्यादि ।
 
== परिचय ==
72

सम्पादन