"ईरान का इतिहास" के अवतरणों में अंतर

2 बैट्स् नीकाले गए ,  13 वर्ष पहले
== यूरोपीय प्रभुत्व का काल ==
 
कुछ दिनों बाद कजर वंश का शासन आया पर उस समय ईरान के तेल क्षेत्रों की खोज होने और इसके उस्मानी, भारतीय और रूसी क्षेत्रों के बीच स्थित होने के कारण रूसी, अंग्रेजों और फ्रांसीसी साम्राज्यों का प्रभाव बढ़ता ही गया ।गया। उत्तर से [[रूस]], पश्चिम से [[फ्रांस]] तथा पूरब से [[ब्रिटेन]] की निगाहें फारस पर पड़ गईं ।गईं। सन् १९०५-१९११ में यूरोपीय प्रभाव बढ़ जाने और शाह की निष्क्रियता के खिलाफखिलाफ़ एक जनान्दोलन हुआ ।हुआ। इरान के तेल क्षेत्रों को लेकर तनाव बना रहा ।रहा। [[प्रथम विश्वयुद्ध]] में [[तुर्की]] के पराजित होने के बाद ईरान को भी उसका फल भुगतना पड़ा ।पड़ा।
 
==आधुनिक काल==
133

सम्पादन