"साहिब बीबी और ग़ुलाम (1962 फ़िल्म)": अवतरणों में अंतर

== दल ==
== संगीत ==
इस फ़िल्म के संगीतकार [[हेमन्त कुमार]] हैं और गीतकार [[शकील बदायूँनी]] हैं।
{|class = "wikitable"
|+'''साहिब बीबी और ग़ुलाम के गीत'''
|-
!!!गीत!!गायक/गायिका
|-
!१
|-''भंवरा बड़ा नादान हाय''||[[आशा भोंसले]]
|-
!२
|''जिया बुझा बुझा''||[[गीता दत्त]]
|-
!३
|''मेरी बात रही मेरे मन में''||आशा भोंसले
|-
!४
|''मेरी जान ओ मेरी जान''||आशा भोंसले
|-
!५
|''ना जाओ संइया''||गीता दत्त
|-
!६
|''पिया ऐसो जिया में''||गीता दत्त
|-
!७
|''साहिल की तरफ़ कश्ती ले चल''||[[हेमन्त कुमार]]
|-
!८
|''साक़िया आज मुझे नींद नहीं आयेगी''||आशा भोंसले
|-
|}
 
== रोचक तथ्य ==
* फ़िल्म [[कागज़ के फूल (1959 फ़िल्म)|कागज़ के फूल]] के बाद गुरु दत्त ने यह फ़ैसला लिया था कि अब वह कभी भी कोई भी फिल्म का निर्देशन नहीं करेंगे और यही वजह थी कि इस फ़िल्म का निर्देशन उनके लेखक दोस्त अबरार अलवी ने किया था।
गुमनाम सदस्य