"ब्रिटिश भारत में रियासतें" के अवतरणों में अंतर

{{काम जारी}}
({{काम जारी}})
{{काम जारी}}
{{स्रोतहीन|date=दिसम्बर 2011}}
 
'''ब्रिटिश भारत में रियासतें''' ([[भारतअंग्रेजी]]: मेंPrincely ब्रिटिशराजstate के) समय[[ब्रिटिश राज]] में अविभाजित [[हिन्दुस्तान]] के नाममात्र के स्वतंत्रस्वतन्त्र (अंग्रेजी: sovereign) राज्योंराज्य कोथे। इन्हें आम बोलचाल की भाषा में [[रियासत]] या व्यापक अर्थ में '''देशी रियासत''' (Princely State याअंग्रेजी: Native State या Indian State) कहते थे। ये ब्रितानियों द्वारा सीधे शासित नहीं थे बल्कि किसी भारतीय शासक द्वारा शासित थे जिसके उपर ब्रितानियों का परोक्ष नियन्त्रण रहता था।
 
जब सन् १९४७ में भारतजब हिन्दुस्तान आजाद हुआ तब यहाँ ५६५ रियासतें थीं। इनमें से अधिकांश रियासतों ने ब्रितानियोंब्रिटिश सरकार से लोकसेवा प्रदान करने एवं कर (टैक्स) वसूलने का [[ठेका या ठीका|'ठेका']] ले लिया था। कुल ५६५ में से केवल २१ रियासतों में ही '[[सरकार']] थी और केवल तीन३ रियासतें ([[मैसूर]], [[हैदराबाद]] तथा [[कश्मीर]]) ही क्षेत्रफल में बड़ी थीं। सन् १९४७ में ब्रितानियों से मुक्ति मिलने पर इन्हें [[भारत]] या हिन्दुस्तान के विभाजन के बाद बने [[पाकिस्तान]] में मिला लिया गया।
 
== परिचय तथा इतिहास ==
[[श्रेणी:भारत का इतिहास]]
[[श्रेणी:ब्रितानी भारत]]
[[en: Princely state]]
6,802

सम्पादन