मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

58 बैट्स् जोड़े गए ,  11 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
महाभारतविष्णुपुराण में वर्णित एक कथा के अनुसार दैत्य कश्यप ऋषि और दिति के पुत्र थे। उन्हें असुर और राक्षस भी कहा गया है। हिरण्यकश्यप और हिरण्याक्ष प्रसिद्ध दैत्य थे। दैत्यों की प्रवृत्तियाँ आसुरी थीं। आगे चलकर उनका देवताओं या सुरों से युद्ध भी हुआ। देवता दैत्यों के सौतेले भाई थे और कश्यप ऋषि की दूसरी पत्नी अदिति के पुत्र थे।
 
[[श्रेणी:पुराण]]
28,109

सम्पादन