"विकिपीडिया:चौपाल": अवतरणों में अंतर

त्रुटी सुधार
(त्रुटी सुधार)
:::शुभम! आप मेरे छोटे भाई की तरह हैं। आपके विकि योगदान की सराहना करते हुए विनम्रता से यह कहना चाहता हूँ कि विकिया की मूल संकल्पना ही अधिक सक्रीय सदस्य औ्र उतनी ही बेहतर विकिया में है। अंग्रेजी विकिया इसलिए अच्छी है क्योंकि उसपर एक लाख से ज्यादा सक्रीय सदस्य औ्र एक हजार से अधिक प्रबंधक हैं। सक्रीय सदस्यों की संख्या दो सौ से दो हजार कर दीजिए पिछले दस वर्षों की उपलब्धि एक वर्ष में मिल जाएगी। दूसरी बात यह कि प्रबंधक होने के लिए कोई विशिष्ट योग्यता की जरूरत नहीं है। केवल विकिनीतियों की बेहतर समझदारी, सहयोगात्मक सक्रियता थोड़ा अनुभव और विकिया के संवर्धन की प्रतिबद्धता आपके प्रबंधक होने के लिए पर्याप्त हैं। प्रबंधकों के कोई विशेष अधिकार भी नहीं होते हैं। मैं एक साल से अवकाश पर था। मुझे यह समझ नहीं आ रहा है कि प्रबंधकों ने अतिरिक्त जिम्मेदारी क्यों ओढ़ रखी है। प्रबंधक संख्या बढ़ाने का प्रयास क्यों नहीं किया। विकिया की संकल्पना केवल ज्ञानकोश को ग्रह के प्रत्एक व्यक्ति तक पहुँचाने की ही नहीं है बल्कि उसे बनाने और रखरखाव में हिस्सेदारी के अधिकार और दायित्व को भी हरेक व्यक्ति तक पहुँचाने की है। पता नहीं हिंदी विकिया पर प्रबंधक महान योग्यताओं वाला विशिष्ट अधिकारों से लैस पद है यह धारणा क्यों बिठा दी गई है। संजीव, आप, मनोज खुराना, माला चौबे आदी कितने ही सदस्य हैं जिन्हें महीनों पहले से ्परबंधन अधिकार देकर इस दायित्व के लिए तैयार किया जा सकता था। यदि गलती करते तो समझाने, सिखाने औ्र अंततः प्रतिबंधित करने का विकल्प तो है ही। और विकिया पर कोई गलती ऐसी नहीं होती है या की जा सकती है जिसे पुनर्वापस न लिया जा सके। अभी तक के सारे मिटाए पन्ने भी सुरक्षित रहते हैं। हम सही गलत करते और गलत को सही करते हुए ही आगे बढ़ेंगें। <small><span style="border:1px solid magenta;padding:1px;">[[User:aniruddhajnu|<b>अनिरुद्ध</b>]][[User_talk:अनिरुद्ध|<font style="color:purple;background:lightgreen;"> &nbsp;वार्ता&nbsp;</font>]] </span></small> 09:05, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)
::::अनिरुद्ध जी, आपने सही कहा कि हिन्दी विकि को सक्रिय सदस्यों की सख्त आवश्यकता है परन्तु मेरे विचार में ज्यादा प्रबंधक होने से विकि पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ने वाला। प्रबन्धकों की संख्या सदस्यों की संख्या के अनुपात में होती है। अंग्रेज़ी विकि पर एक लाख से अधिक सदस्य और एक हज़ार से अधिक प्रबंधक हैं मतलब वहाँ सदस्य बनाम प्रबंधक का अनुपात 100:1 है; हिन्दी विकि पर 200 से अधिक सदस्य और चार प्रबंधक हैं मतलब अनुपात 50:1 है, यानि अंग्रेज़ी विकि से भी ठीक। दूसरा, आपकी बातों से ऐसा प्रतीत होता है जैसे अभी हिन्दी विकि पर ज्यादा प्रबन्धकों के ना होने से इसके विकास में रुकावट आ रही है, परन्तु असलियत में जो-जो प्रबंधकीय कार्य हैं वहाँ कही भी बैकलॉग नहीं है। आप सही कह रहे हैं कि "प्रबंधक महान योग्यताओं वाला विशिष्ट अधिकारों से लैस पद [नहीं] है" परन्तु एक प्रबंधक को विकि नीतियों का ज्ञान और प्रबंधन कार्य में अनुभव होना चाहिए। गलती करके सीखना सभी पर लागू होता है परन्तु एक प्रबंधक को इतना निपुण होना चाहिए कि उससे गलतियाँ ना हों या बहुत कम हों क्योंकि उसके द्वारा की गई गलतियाँ विकि को अत्याधिक क्षति पहुँचा सकती हैं, उदहारण के लिए कुछ घंटो पहले ही मेरे द्वारा '[[समलैंगिक विवाह]]' लेख वापस लाया गया है जिसे रोहित जी ने दो वर्ष पहले पूर्व बिल्कुल ही असंबंधित व गलत कारण के साथ हटा दिया था। आपने सही कहा कि "[विकि] पर कोई गलती ऐसी नहीं होती है या की जा सकती है जिसे पुनर्वापस न लिया जा सके" परन्तु यह सोचें कि इस "गलती" के कारण कितने ही पाठकों से यह लेख वंचित रखा गया। मेरे बनाए एक लेख में "समलैंगिक विवाह" की लाल कड़ी थी और जब मैने इस पर लेख बनाना चाहा तब मेरी नज़र इस पर पड़ी, अगर मेरा ध्यान इस पर ना जाता तो ना जाने कितने और वर्षों तक यह लेख यहाँ से गायब रहता। ऐसी गलतियाँ ना हों इसलिए मैं व्यक्तिगत रूप से केवल उन सदस्यों को प्रबंधक बनाने के पक्ष में हूँ जिन्हें पहले से ही विकि नीतियों विशेष रूप से पृष्ठ हटाने की नीतियों का ज्ञान हो और वे प्रबंधन कार्यो में सक्रिय हों।[[User:Bill william compton|<span style="text-shadow:gray 3px 3px 2px;"><font color="RED">&lt;&gt;&lt;<sup></sup>&nbsp;बिल विलियम कॉम्पटन</font></span>]]<sup>[[User talk:Bill william compton|<font color="#000000">वार्ता</font>]]</sup> 12:41, 14 अक्टूबर 2013 (UTC)
:जब विकिया की जिमी ने शुरुआत की थी तब अपने दो तीन मित्रों के साथ वे ही प्रबंधक, स्टीवर्ट आदी सबकुछ थे। तब सौ अनुपात एक की सीमा उन्होंने सोची भी नहीं होगी। हिंदी विकिया की शुरुआत के समय भी ५-६ लोग सदस्य भी थे और प्रबंधक भी। प्रत्एक विकिया पर शुरुआती दौर में प्रबंधकों का अनुपात बहुत कम होता है एक के अनुपात में दस या बीस सदस्य भी हो सकते हैं। हिंदी विकिया को थोड़ा विकसित होने तक प्रबंधक सदस्य अनुपात (जिसका कहीं कोई नियम भी नहीं है) के बारे में सोचने के बजाय उसके स्वरूप को ठीक रखने के बारे में सोचना चाहिए। प्रबंधकों की कमी से हिंदी विकिया पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव को केवल वे ही नहीं समझ सकते हैं जिन्होंने ८-१० प्रबंधकों के साथ हिंदी विकिया को तेजी से सकारात्मक रूप में संवर्धित होते नहीं देखा है। २००९ में लगभग २२० सक्रीय सदस्य थे जो २०१० में २५० और बढ़ते-बढ़ते २०११ तक २७५ पार कर गए थे। यह स्वाभाविक गति थी और आज तक यह संख्या ३५० पार हो जानी चाहिए थी। बॉट ४० से बढ़कर ७० बना लिए गए लेकिन सक्रीय सदस्य ३५० के बजाय लगभग २०० रह गए हैं। रही प्रबंधकों की कमी के सीधे दुष्प्रभाव की बात तो मुखपृ,ठ के विभिन्न साँचों को अद्यतित रखने के लिए ही कम-से-कम ८-१० प्रबंधकों की सक्रीयता चाहिए। कभी निर्वाचित आलेख पूर्णिमा, आशीष और मुनीता जी मिलकर हर महिने और आज का आलेख रोज बदलते थे। महितगर जी के और मेरे आने के बाद समाचार साँचे की सार्थकता जरूर बढ़ गई थी। और आप यकीन रखीए आप नहीं भी आते तो भी समलैंगिकता संबंधी पृष्ठ वापस जरूर आता। अभी किसी और का ध्यान उस ओर नहीं गया था यह संयोग की बात है। वरना दुनिया की पहली प्रकाशित गुटेनवर्ग बाइबिल या वेंटीलेटर पर किसी प्रबंधक के न ध्यान जाने को क्या प्रबंधकों की अयोग्यता मान लेना चाहिए। कभी आपही ने सबाल्टर्न अध्ययन लेख मिटा दिया था जिसे मैने ही वापस लाया था। जाहिर है समझ की चूक किसी से भी हो सकती है। इससे किसी व्यक्ति की समझ का मापदंड नहीं माना जा सकता है। इसके या इसके जैसे कुछ अन्य उदाहरणों के आधार पर कोई प्रबंधकत्व के सर्वथा अयोग्य नहीं हो जाता है। विकिया गलतियों को सही करने की प्रक्रिया के साथ ही उन्नत होने की संकल्पना पर आधारित है क्योंकि यह हजारों कम समझदार लोगों द्वारा बेहतरीन समझ वालों से बेहतर ज्ञानकोश बनाने की कोशिश है। रही प्रबंधकों की नीति निपुणता की बात तो कुछ पूर्व और वर्तमान प्रबंधकों को मैं तकनीक के सहारे अनुचित रूप से संपादन की दौड़ लगाते देखा है। बॉट खाता होने के बावजूद अपने खाते को बॉट की तरह चलाते देखा है। अभी सदस्य प्रबंधक के अनुपात के बजाय न्युनतम आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आवश्यक शक्ति में वृद्धि पर ध्यान दिया जाना चाहिए। वरना इसका अर्थ यह भी निकाला जा सकता है कि योग्य सदस्यों को प्रबंधक अधिकार न देकर वर्तमान प्रबंधक विकिया को अपना निजी क्रीड़ा क्षेत्र मान बैठे हैं और उसके प्रसार में बाधक हो रहे हैं। <small><span style="border:1px solid magenta;padding:1px;">[[User:aniruddhajnu|<b>अनिरुद्ध</b>]][[User_talk:अनिरुद्ध|<font style="color:purple;background:lightgreen;"> &nbsp;वार्ता&nbsp;</font>]] </span></small> 17:46, 15 अक्टूबर 2013 (UTC)
पर भी क्या मुझे प्रबंधक टीम को अयोग्य नहीं समझ लेना चाहिए। कभी आपही ने सबाल्टर्न अध्ययन लेख मिटा दिया था जिसे मैने ही वापस लाया था। जाहिर है समझ की चूक किसी से भी हो सकती है। इससे किसी व्यक्ति प्रबंधकत्व के सर्वथा अयोग्य नहीं हो जाता है। विकिया गलतियों को सही करने की प्रक्रिया के साथ ही उन्नत होने की संकल्पना पर आधारित है क्योंकि यह हजारों कम समझदार लोगों द्वारा बेहतरीन समझ वालों से बेहतर ज्ञानकोश बनाने की कोशिश है। रही प्रबंधकों की नीति निपुणता की बात तो कुछ पूर्व और वर्तमान प्रबंधकों को मैं तकनीक के सहारे अनुचित रूप से संपादन की दौड़ लगाते देखा है। बॉट खाता होने के बावजूद अपने खाते को बॉट की तरह चलाते देखा है। अभी सदस्य प्रबंधक के अनुपात के बजाय न्युनतम आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आवश्यक शक्ति में वृद्धि पर ध्यान दिया जाना चाहिए। वरना इसका अर्थ यह भी निकाला जा सकता है कि योग्य सदस्यों को प्रबंधक अधिकार न देकर वर्तमान प्रबंधक विकिया को अपना निजी क्रीड़ा क्षेत्र मान बैठे हैं और उसके प्रसार में बाधक हो रहे हैं। <small><span style="border:1px solid magenta;padding:1px;">[[User:aniruddhajnu|<b>अनिरुद्ध</b>]][[User_talk:अनिरुद्ध|<font style="color:purple;background:lightgreen;"> &nbsp;वार्ता&nbsp;</font>]] </span></small> 17:46, 15 अक्टूबर 2013 (UTC)