"के पी सक्सेना" के अवतरणों में अंतर

2,349 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
संक्षिप्त जीवन परिचय
(→‎सन्दर्भ: ==बाहरी कड़ियाँ==)
(संक्षिप्त जीवन परिचय)
 
उनका निधन 31 अक्तूबर 2013 को लखनऊ में हुआ। वे [[कैंसर]] से पीड़ित थे।<ref>[http://cgkhabar.com/satirist-kp-saxena-no-more-20131031/ छतीसगढ़ खबर, 31 अक्तूबर 2013, शीर्षक: लेखक के.पी. सक्सेना नही रहे]</ref>
 
==संक्षिप्त जीवन परिचय==
केपी सक्सेना का जन्म सन् 1934 में बरेली में हुआ था। उनका पूरा नाम कालिका प्रसाद सक्सेना था। लेकिन रेल विभाग और साहित्य जगत में वे केपी के नाम से ही अधिक लोकप्रिय थे। उन्होंने [[बरेली कॉलेज]] बरेली से वनस्पतिशास्त्र (बॉटनी) में स्नातकोत्तर (एमएससी) की उपाधि प्राप्त की थी। शिक्षा पूर्ण करने के उपरान्त उन्होंने कुछ समय तक लखनऊ के एक कॉलेज में अध्यापन कार्य भी किया। इसी दौरान उन्होंने वनस्पति विज्ञान पर कुछ पुस्तकें भी लिखीं। बाद में उन्हें [[उत्तर रेलवे]] में सरकारी नौकरी के साथ-साथ उनकी पहली पसन्द के लखनऊ [[शहर]] में पोस्टिंग मिल गयी। इसके बाद वे लखनऊ में ही स्थायी रूप से बस गये। उन्होंने अनगिनत व्यंग्य रचनाओं के अलावा [[आकाशवाणी]] और [[दूरदर्शन]] के लिए कई नाटक और धारावाहिक भी लिखे। बीबी नातियों वाली धारावाहिक बहुत लोकप्रिय हुआ। उनकी लोकप्रियता का अन्दाज़ इसी से लगाया जा सकता है कि था कि वे मूलत: व्यंग्य लेखक होने के बावजूद कवि सम्मेलनों में भी पूरी शिद्दत के साथ भाग लेते थे।
 
*****
 
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
6,802

सम्पादन