"इलाचन्द्र जोशी": अवतरणों में अंतर

Reverted good faith edits by 120.59.159.211 (talk): कॉपी-पेस्ट: http://bharatdiscovery.org/india/%E0%A4%87%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E...
No edit summary
(Reverted good faith edits by 120.59.159.211 (talk): कॉपी-पेस्ट: http://bharatdiscovery.org/india/%E0%A4%87%E0%A4%B2%E0%A4%BE%E0%A4%9A%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E...)
हिन्दी कवि और लेखक
इलाचन्द्र जोशी (अंग्रेज़ी: Ilachandra Joshi, जन्म- 13 दिसम्बर, 1903 - मृत्यु- 1982) हिन्दी में मनोवैज्ञानिक उपन्यासों के आरम्भकर्ता माने जाते हैं। जोशी जी ने अधिकांश साहित्यकारों की तरह अपनी साहित्यिक यात्रा काव्य-रचना से ही आरम्भ की। पर्वतीय-जीवन विशेषकर वनस्पतियों से आच्छादित अल्मोड़ा और उसके आस-पास के पर्वत-शिखरों ने और हिमालय के जलप्रपातों एवं घाटियों ने, झीलों और नदियों ने इनकी काव्यात्मक संवेदना को सदा जागृत रखा।
{{stub}}
**
 
[[श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन]]
प्रतिभा सम्पन्न
[[श्रेणी:हिन्दी साहित्य]]
 
जोशी जी बाल्यकाल से ही प्रतिभा के धनी थे। उत्तरांचल में जन्मे होने के कारण, वहाँ के प्राकृतिक वातावरण का इनके चिन्तन पर बहुत प्रभाव पड़ा। अध्ययन में रुचि रखन वाले इलाचन्द्र जोशी ने छोटी उम्र में ही भारतीय महाकाव्यों के साथ-साथ विदेश के प्रमुख कवियों और उपन्यासकारों की रचनाओं का अध्ययन कर लिया था। औपचारिक शिक्षा में रुचि न होने के कारण इनकी स्कूली शिक्षा मैट्रिक के आगे नहीं हो सकी, परन्तु स्वाध्याय से ही इन्होंने अनेक भाषाएँ सीखीं। घर का वातावरण छोड़कर इलाचन्द्र जोशी कोलकाता पहुँचे। वहाँ उनका सम्पर्क शरतचन्द्र चट्टोपाध्याय से हुआ।
9,937

सम्पादन