"पिशाच" के अवतरणों में अंतर

14 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
1954 में प्रकाशित रिचर्ड मैथेसन की ''[[आई ऐम लीजेंड]]'' वैज्ञानिक पिशाच उपन्यासों में सर्वप्रथम था जिसके आधार पर [[द लास्ट मैन ऑन अर्थ]] (1964), [[द ऑमेगा मैन]] (1971), और [[आई ऐम लीजेंड|आई ऐम लीजेंड (फ़िल्म)]] (2007) फ़िल्में बनीं.
 
इक्कीसवीं सदी ने पिशाच कथा के अधिकाधिक उदाहरण लाए जैसे की [[जे.आर. वार्ड]] की [[ब्लैक डैगर ब्रदरहुड]] सीरीज़ और अन्य काफी लोकप्रिय पिशाच पुस्तकें जिसने किशोरों और युवा वयस्कों को काफी आकर्षित और प्रभावित किया. ऐसे पैशाचिक [[असाधारण रोमांटिक]] उपन्यास एवं सहबद्ध पैशाचिक चटपटे [[मनोरंजक उपन्यास]] तथा पैशाचिक [[गुप्त रहस्यमयी]] कहानियां उल्लेखनीय लोकप्रियता और हमेशा बढ़ने वाली समकालीन प्रकाशन की घटनाएं हैं.<ref>[http://www.usatoday.com/life/books/news/2006-06-28-vampire-romance_x.htm वैम्पायर रोमांस]</ref>[[लेसली एस्डाइल बैंक्स|एल.ए. बैंक्स]] की [[द वैम्पायर हंट्रेस लीजेंड सीरीज़]], [[लॉरेल के. हैमिल्टन]] की कामुक [[:अनिता ब्लेक: वैम्पायर हंटर|अनिता ब्लेक: वैम्पायर हंटर]] सीरीज़, और [[किम हैरिसन]] की [[द होलोज़ (सिरीज़)|द होलोज़]] सीरीज़ पिशाच का चित्रण विविधता के साथ नए दृष्टिकोण से करते हैं, जिनमें से कुछ का मौलिक जनश्रुतियों के साथ कोई संबंध नहीं है. भूत-प्रेत से संबंधित ब्लाग- http://sokhababa.blogspot.in/भूत-प्रेत की कहानियाँ
 
बीसवीं सदी के उत्तरार्द्ध ने अनेक खंडों में पिशाच महाकाव्य के प्रकाशन का उत्थान देखा. इनमें से प्रथम गॉथिक रोमांस शैली के रचनाकार [[मैरिलिन रोस]] की कृति ''[[माबास कॉलिंस|बमाबास कॉलिंस]]'' सीरीज़ (1966-71) थी जो हल्के-फुल्के ढंग से समकालीन अमेरिकन TV सीरीज़ ''[[डार्क शैडोज़]]'' पर आधारित थी. इसने पिशाचों को काव्यात्मक [[त्रासद नायक]] के चरित्र के रूप में देखने की प्रवणता पैदा की न कि बुराई के परंपरागत अवतार के रूप में. इस फार्मूला का प्रयोग उपन्यासकार [[ऐनी राईस]] के सर्वाधिक लोकप्रिय और प्रभावशाली कृति ''[[वैम्पायर क्रोनिकल्स]]'' (1976-2003) में किया गया.<ref name="SU205">सिल्वर और उर्सिनी, ''द वैम्पायर फिल्म'' , पृष्ठ 205.</ref>. [[स्टेफनी मेयेर]] द्वारा कृत [[ट्विलाइट (सीरीज़)|"ट्विलाइट" सीरीज़]] (2005-2008) में पिशाच लहसुन और क्रॉस के प्रभाव को नजरअदाज़ कर देते हैं और सूर्य की रोशनी का भी उन पर कोई असर नहीं पड़ता है (हालांकि यह उनके अलौकिक स्वरुप को उजागर करती है).<ref name="slate">{{cite web|url=http://www.slate.com/id/2205143/|title=I Vant To Upend Your Expectations: Why movie vampires always break all the vampire rules|last=Beam|first=Christopher |date=2008, November 20|work=Slate Magazine|accessdate=2009-07-17}}</ref>
बेनामी उपयोगकर्ता