"देवरिया" के अवतरणों में अंतर

40 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
समशीतोष्ण । कुल मिलाकर ठीक-ठाक । जाड़ा, गर्मी, बरसात, तीनों हैं यहाँ बराबर के हिस्सेदार । पर मई-जून की गर्मी और ऊपर से लू । इनसे बचने के लिए सर पर गमछा होना आवश्यक और पेय पदार्थों में बेल का रस और सतुई ।
जनवरी, फरवरी आदि में अच्छी ठंडक के साथ-साथ कुहा जो कभी-कभी सूर्य को कई-कई दिन तक निकलने ही नहीं देता है और वाहन अपनी बत्ती जलाकर सड़कों पर रेंगते हैं । इस ठंड से बचने के लिए गाँवों में लोग कंबल आदि ओढ़कर या गाँती बाँधकर कौड़ा (आग) तापते हैं और रात में लोग रजाई निकाल लेते है और ओढ़ लेते है
 
http://deoria.blogspot.in/
[[श्रेणी:उत्तर प्रदेश के ज़िले]]
 
== बाह्य सूत्र ==
http://deoria.blogspot.in/
बेनामी उपयोगकर्ता