"प्राकृतिक भाषा संसाधन" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
'''प्राकृतिक भाषा संसाधन''' ('''एनएलपी''') [[कंप्यूटर विज्ञान]] और [[भाषा विज्ञान]] और मानव (प्राकृतिक) भाषाओं के कंप्यूटर के बीच बातचीत के  संबंध का एक क्षेत्र है। <ref>Charnia, Eugene: ''Introduction to प्राकृतिक भाषा संसाधन (एनएलपी) पाठ को विश्लेषित करने के लिए कम्प्यूटरीकृत दृष्टिकोण है जो कि प्रौद्योगिकी और सिद्धांतों के दोनों वर्गों पर आधारित है और अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में यह बहुत सक्रिय है।artificial intelligence'', page 2. Addison-Wesley, 1984.</ref>
सिद्धांत रूप में, प्राकृतिक भाषा संसाधन  बहुत ही आकर्षक विधि है।
इस विधि द्वरा सन्गनक यन्त्र को विभिन्न प्रकार की प्राक्रतिक भाषाओ की समझ करायी जाती है जिससे सन्गनक यन्त्र मनुष्य की भाषाओ को समझ सके।
 
कईकुछ महत्वपूर्ण प्राकृतिक भाषा संसाधन इसये प्रकार है।हैं-
 
# [[मशीनी अनुवाद]]
# पाठ सरलीकरण
२ कम्प्यूटेशनल भाषा विज्ञान  
# सूचना निष्कर्षण (इन्फार्मेशन इक्सट्रैक्सन)
३ डाटा खनन
# सारांशीकरण (summerization)
४ भाषा तकनीक
# प्रश्नों के उत्तर देना
५ प्राकृतिक भाषा समझ
# कम्प्यूटेशनल भाषा विज्ञान  
# डाटा खनन (डेटा माइनिंग)
# भाषा तकनीक
# प्राकृतिक भाषा समझ
# अनचाहे मेल (स्पैम) के विरुद्ध संघर्ष
 
==सन्दर्भ==
{{टिप्पणीसूची}}
 
<!-- WikiBhasha v=2 time=2010-11-10:11:39:36:315-->
[[श्रेणी:भाषा]]
[[श्रेणी:संगणन]]