मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

350 बैट्स् नीकाले गए ,  5 वर्ष पहले
छो
Reverted good faith edits by Abhi.Wiki.Account (talk): Non-useful test edits. (TW)
{{ज्ञानसन्दूक
| title= आकाशगंगा
| image= [[चित्र:236084main MilkyWay-full-annotated.jpg|200px]]
| caption= यह आकाशगंगा (हमारी [[गैलेक्सी]]) का एक काल्पनिक चित्र जिसपर कुछ भुजाओं के नाम लिखे हुए हैं - हम इसकी एक भुजा में स्थित हैं इसलिए ऐसा दृश्य वास्तव में नहीं देख सकते, हालांकि वैज्ञानिक रूप से हम जानते हैं की नज़ारा ऐसा ही होगा।
| titlestyle=background: #30D5C8lc;
| headerstyle=background:
| data9= {{convert|27.2|+/-|1.1|kly|kpc|abbr=on|lk=off}}
| label10= ग्रहों की संख्या
| data10= लगभग 50 अरब
| label11=आयुउम्र
| data11=
| data11= कम से कम 13.2 अरब वर्ष
| label12= समीपअन्य की आकाशगंगा(लिखें)
| data12= [[एण्ड्रोमेडा]]
| label13= अन्य (लिखें)
| label13= तारों की संख्या
| data13=
| data13= लगभग 100 अरब से 400 अरब तक
| below= समाप्त
}}
[[चित्र:Milky Way IR Spitzer.jpg|thumb|[[स्पिट्ज़र अंतरिक्ष दूरबीन]] से ली गयी हमारी आकाशगंगा के केन्द्रीय भाग की इन्फ़्रारेड प्रकाश की तस्वीर।]]
[[चित्र:Milky Way Arms.svg|thumb|अलग रंगों में आकाशगंगा की विभिन्न भुजाएँ।]]
[[चित्र:Perseid Meteor.jpg|thumb|अँधेरी रात में ज़मीन से ली गयी आकाशगंगा की तस्वीर।]]
[[चित्र:Phot-08a-99-hires.jpg|thumb|ऍन॰जी॰सी॰ १३६५ (एक [[सर्पिल गैलेक्सी]]) - अगर आकाशगंगा की दो मुख्य भुजाएँ हैं जो उसका आकार इस जैसा होगा।]]
'''आकाशगंगा''', '''मिल्की वे''', '''क्षीरमार्ग''', '''मन्दाकिनी''' या '''दुग्ध मेखलामन्दाकिनी''' हमारी [[गैलेक्सी]] को कहते हैं, जिसमें [[पृथ्वी]] और हमारा [[सौर मण्डल]] स्थित है। आकाशगंगा आकृति में एक [[सर्पिल गैलेक्सी|सर्पिल (स्पाइरल) गैलेक्सी]] है, जिसका एक बड़ा केंद्र है और उस से निकलती हुई कई वक्र भुजाएँ। हमारा सौर मण्डल इसकी [[शिकारी-हन्स भुजा]] (ओरायन-सिग्नस भुजा) पर स्थित है। आकाशगंगा में १०० अरब से ४०० अरब के बीच [[तारे]] हैं और अनुमान लगाया जाता है कि लगभग ५० अरब [[ग्रह]] होंगे, जिनमें से ५० करोड़ अपने तारों से जीवन-योग्य तापमान रखने की दूरी पर हैं।<ref>{{cite news|last=Borenstein|first=Seth|archivedate=2011-02-21|date=2011-02-19|archiveurl=http://www.webcitation.org/5wg3VVKg4|url=http://www.washingtonpost.com/wp-dyn/content/article/2011/02/19/AR2011021902211.html|title=Cosmic census finds crowd of planets in our galaxy|agency=[[Associated Press]]|newspaper=[[The Washington Post]]}}</ref> सन् २०११ में होने वाले एक सर्वेक्षण में यह संभावना पायी गई कि इस अनुमान से अधिक ग्रह हों - इस अध्ययन के अनुसार आकाशगंगा में तारों की संख्या से दुगने ग्रह हो सकते हैं।<ref>{{cite web|url=http://planetquest.jpl.nasa.gov/news/freePlanet.cfm|title=Free-Floating Planets May be More Common Than Stars|date=2011-02-18|publisher=NASA's Jet Propulsion Laboratory|location=Pasadena, CA|quote=The team estimates there are about twice as many of them as stars.}}</ref> हमारा सौर मण्डल आकाशगंगा के बाहरी इलाक़े में स्थित है और आकाशगंगा के केंद्र की परिक्रमा कर रहा है। इसे एक पूरी परिक्रमा करने में लगभग २२.५ से २५ करोड़ वर्ष लग जाते हैं।
 
== नाम ==
[[संस्कृत]] और कई अन्य [[हिन्द-आर्य भाषाओँ]] में हमारी गैलॅक्सी को "आकाशगंगा" कहते हैं।<ref name="jackson1989">{{Cite book | title=Folk Lore Notes | author=A M T Jackson, R.E. Enthoven | year=1989 | publisher=Asian Educational Services | isbn=8120604857 | url=http://books.google.com/?id=eRkuXFD93zsC | quote=''... According to the Puranas, the milky way or akashganga is the celestial River Ganga which was brought down by Bhagirath ...''}}</ref><ref name="spencer1965">{{Cite book | title=The Aryan ecliptic cycle: glimpses into ancient Indo-Iranian religious history from 25628 B.C. to 292 A.D. | author=Hormusjee Shapoorjee Spencer | year=1965 | publisher=H.P. Vaswani | isbn= | url=http://books.google.com/?id=jdMoAAAAYAAJ | quote=''... There are two "Gangas"—one terrestrial and the other "akashic" or celestial ... bear reference only to the "Akash Ganga" which is the Milky Way ...''}}</ref> पुराणों में आकाशगंगा और पृथ्वी पर स्थित गंगा नदी को एक दुसरे का जोड़ा माना जाता था, और दोनों को पवित्र माना जाता था। प्राचीन [[हिन्दू]] धार्मिक ग्रंथों में आकाशगंगा को "क्षीरमार्गक्षीर" (यानि दूध का रास्ता) या "दुग्ध मेखला" बुलाया गया है।<ref name="sachau2001">{{Cite book | title=Alberuni's India: an account of the religion, philosophy, literature, geography, chronology, astronomy, customs, laws and astrology of India about A.D. 1030 | author=Edward C. Sachau | year=2001 | publisher=Routledge | isbn= 9780415244978| url=http://books.google.com/?id=a91-t4uw8A4C | quote=''... revolves around Kshira, i.e. the Milky Way ...''}}</ref> भारतीय उपमहाद्वीप के बाहर भी कई सभ्यताओं को आकाशगंगा दूधिया लगी। "गैलॅक्सी" शब्द का मूल [[यूनानी भाषा]] का "गाला" (γάλα) शब्द है, जिसका अर्थ भी दूध होता है। [[फ़ारसी]] संस्कृत की ही तरह एक [[हिन्द-ईरानी भाषा]] है, इसलिए उसका "दूध" के लिए शब्द संस्कृत के "क्षीर" से मिलता-जुलता [[सजातीय शब्द]] "शीर" है और आकाशगंगा को "राह-ए-शीरी" ({{Nastaliq|ur|راه شیری}}) बुलाया जाता है। [[अंग्रेजी]] में आकाशगंगा को "मिल्की वे" ([[:en:Milky Way|Milky Way]]) बुलाया जाता है, जिसका अर्थ भी "दूध का मार्ग" ही है।
 
कुछ पूर्वी एशियाई सभ्यताओं ने "आकाशगंगा" शब्द की तरह आकाशगंगा में एक नदी देखी। आकाशगंगा को [[चीनी भाषा|चीनी]] में "चांदी की नदी" (銀河) और [[कोरियाई भाषा]] में भी "मिरिनाए" (미리내, यानि "चांदी की नदी") कहा जाता है।
9,937

सम्पादन