मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

144 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
 
== प्रतीकात्मकता ==
[[Image:AthenaIndia 0306 036.jpg|thumb|left|300px|त्रिविक्रम (वामन) का भित्ति चित्र।]]
 
वामनावतार के रूप में विष्णु ने बलि को यह पाठ दिया कि दंभ तथा अहंकार से जीवन में कुछ हासिल नहीं होता है और यह भी कि धन-सम्पदा क्षणभंगुर होती है। ऐसा माना जाता है कि विष्णु के दिये वरदान के कारण प्रति वर्ष बली धरती पर अवतरित होते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि उनकी प्रजा खु़शहाल है।<ref name=trivikrama/>
 
1,114

सम्पादन