"विकिपीडिया वार्ता:मुखपृष्ठ निर्वाचित चित्र" के अवतरणों में अंतर

 
===टिप्पणी===
;संजीव के कुछ प्रश्न और सुझाव:
मैं कुछ सवाल और सुझाव लिख रहा हूँ। इसका अर्थ यह न लगाया जाये कि मैं विरोध कर रहा हूँ। मैं केवल इसे समझने का प्रयास कर रहा हूँ।
* हम विकिकॉमन्स पर निर्वाचित चित्र को यहाँ ले रहे हैं तो क्या यहाँ उसे पुनः नामांकित करने की आवश्यकता है?
** मुझे लगता है यहाँ इसे पुनः नामांकित करना आवश्यक है और नामांकनकर्ता सम्बंधित पृष्ठ निर्मित करे। नामांकन कर्ता यदि इस तरह के अधिक नामांकन करता है तो उसे सम्बंधित बार्नस्टार दिये जायें।
** यदि पर्याप्त मात्रा में नामांकन नहीं आते हैं तो सक्रिय प्रबन्धकों की जिम्मेदारी बनती है कि वो बिना नामांकन के सम्बधित पृष्ठों का निर्माण करें और चित्र का प्रयोग करें।
** नामांकन कौन-कौन कर सकता है? कई बार नामांकन कुछ आईपी से भी आने लगते हैं क्या उन्हें भी मानदण्डों पर परखा जाये?
* आधार से बेहतर – कुछ शब्द सीमा निर्धारित करना उचित रहेगा जैसे क्या आप जानते हैं के लिए लेख की न्युनतम शब्द निर्धारित है।
** यदि चित्र से सम्बंधित एक से अधिक लेख बने हैं जिनमें एक को छोड़कर अन्य लेख आधार हैं तो उस अवस्था में इस नियम को कैसे परिभाषित किया जायेगा?
** सम्बंधित लेख आधार से बेहतर है लेकिन उसमें चित्र केवल एक उदाहरण के तौर पर अथवा चित्र दीर्घा में जुड़ा हुआ है तब क्या उस लेख को चित्र से सम्बद्ध माना जाये?
* किसी विशेष पक्ष की धारणा – कई बार हम विशेष पर्वों पर विशेष चित्र प्रदर्शित करते हैं जैसे यदि यह नियमावली बन चुकी होती तो मैं चाहता कि आज फीफा से सम्बंधित कोई चित्र मुखपृष्ठ पर होता जिससे विकि के तुरन्त अद्यतन होने का सन्देश लोगों तक जाये। क्या यह विशेष पक्ष को नहीं दिखाता? यह नियम कुछ अधुरा सा प्रतीत होता है।
** कई बार कुछ विषय विवादस्पद होते नहीं हैं लेकिन कुछ सदस्य जाने-अनजाने में उन्हें ऐसा बना देते हैं जिससे वो विषय ही विवादों में प्रतीत हो रहा है। उस अवस्था में क्या किया जाये।
** कुछ चित्रकार विवादस्पद होते हैं लेकिन उनके कुछ चित्र बहुत ही विचित्र और ज्ञानवर्धक हो सकते हैं, उस अवस्था में चित्र को क्या विवादस्पद नहीं माना जाता?
* ज्ञानकोशीय महत्व – जब चित्र से सम्बंधित एक लेख विकिपीडिया पर पहले से मौजुद है (नियम 2 के अनुसार) तो क्या चित्र के ज्ञानकोशीय होने पर सन्देह किया जायेगा?
** क्या किसी व्यक्ति (जैसे किसी राजनेता, वैज्ञानिक, कलाकार, उद्यमी अथवा कोई प्रसिद्ध व्यक्ति) का चित्र ज्ञानकोशीय महत्व का माना जायेगा? क्योंकि ऐसे चित्रों में वैचारिक मतभेद बहुत होते हैं।
** एक चीनी कहावत पढ़ी थी मैंने किसी इतिहास की पुस्तक में, उसके अनुसार एक चित्र हजारों शब्दों से भी बढ़कर होता है अर्थात प्रत्येक चित्र में ज्ञान का बहुत बड़ा भण्डार होता है केवल समझने वाले की दृष्टि पर निर्भर करता है। ऐसी अवस्था में चित्र का ज्ञानकोशीय महत्व किस तरह का है। इसका वर्णन आवश्यक प्रतीत होता है।
* चित्र का वर्णन (पुनः नियम 2) जब पृष्ठ हिन्दी में बनाया गया है तो कौनसा वर्णन हिन्दी में नहीं होगा?
** शायद यहाँ "चित्र का वर्णन" से तात्पर्य उस वर्णन से है जो चित्र के साथ मुखपृष्ठ पर प्रदर्शित होगा। उस अवस्था में इसकी भी कुछ शब्द/अक्षर सीमा होना आवश्यक हो जाता है।
<span style="color:green;">☆★</span>[[u:संजीव कुमार|<u>'''<span style="color:Magenta;">संजीव कुमार</span>'''</u>]] ([[User talk:संजीव कुमार|<span style="color:blue;">✉✉</span>]]) 14:25, 12 जून 2014 (UTC)