"क्यूबाई मिसाइल संकट" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट से अल्पविराम (,) की स्थिति ठीक की।
छो (fixing dead links)
छो (बॉट से अल्पविराम (,) की स्थिति ठीक की।)
[[चित्र:Soviet-R-12-nuclear-ballistic missile.jpg|thumb|मॉस्को के रेड स्क्वायर में मध्यवर्ती दूरी की सोवियत आर-12 परमाणु बैलिस्टिक मिसाइल (नाटो द्वारा दिया गया नाम एसएस-4) की सीआईए (CIA) संदर्भ तस्वीर.]] '''क्यूबाई मिसाइल संकट''' (क्यूबा में ''अक्टूबर संकट'' के रूप में जाना जाता है) [[शीतयुद्ध|शीत युद्ध]] के दौरान अक्टूबर 1962 में [[सोवियत संघ|सोवियत संघ,]] [[क्यूबा]] और [[संयुक्त राज्य अमेरिका]] के बीच एक टकराव था. सितंबर 1962 में, क्यूबा और सोवियत सरकारों ने चोरी-छिपे क्यूबा में महाद्वीपीय संयुक्त राज्य अमेरिका के अधिकांश भागों पर मार कर सकने की क्षमता वाली अनेक मध्यम- और मध्यवर्ती-दूरी की प्राक्षेपिक मिसाइलें (MRBMs और IRBMs) लगानी शुरू की. 1958 में यूके (UK) में थोर आईआरबीएम (IRBM) और 1961 में इटली और तुर्की में जुपिटर आईआरबीएम (IRBM)- मॉस्को पर नाभिकीय हथियारों से हमला करने की क्षमता वाली इन 100 से अधिक यू.एस. (U.S.)-निर्मित मिसाइलों की तैनाती के प्रतिक्रियास्वरूप यह कारवाई की गयी. 14 अक्टूबर, 1962 को , एक संयुक्त राज्य अमेरिकी यू-2 (U-2) फोटोआविक्षण विमान ने क्यूबा में निर्माणाधीन सोवियत मिसाइल ठिकानों के फोटोग्राफिक सबूत जमा किये.
 
फलस्वरूप बर्लिन नाकाबंदी से पैदा हुआ संकट शीत युद्ध के एक बड़े टकराव का रूप ले लिया और आम तौर पर माना जाने लगा कि शीत युद्ध अब एक नाभिकीय संघर्ष के कगार पर आ पहुंचा है.<ref>{{cite journal|first=B. Gregory |last=Marfleet|title=The Operational Code of John F. Kennedy During the Cuban Missile Crisis: A Comparison of Public and Private Rhetoric |journal=Political Psychology |volume=21|page=545|issue=3}}</ref> संयुक्त राज्य अमेरिका ने क्यूबा आकाश और समुद्र मार्ग से हमला करने पर विचार किया और क्यूबा का सैन्य संगरोधन करना तय किया. यू.एस. (U.S.) ने घोषणा की कि वह क्यूबा में आक्रामक हथियारों को ले जाने नहीं देगा और मांग की कि सोवियत संघ क्यूबा में निर्माणाधीन या बन चुके मिसाइल ठिकानों को नष्ट करे और वहां से सभी आक्रामक हथियारों को हटा ले. कैनेडी प्रशासन को बहुत ही कम उम्मीद थी कि क्रेमलिन उनकी मांगों को मान लेगा, और वह एक सैन्य टकराव की अपेक्षा कर रहा था. दूसरी ओर सोवियत संघ के निकिता ख्रुश्चेव ने केनेडी को एक पत्र में लिखा कि "अंतरराष्ट्रीय जल मार्ग और आकाश मार्ग के यातायात के" उनके संगरोधन की "कारवाई एक ऐसी आक्रामकता है जो मानव जाति को विश्व नाभिकीय-मिसाइल युद्ध के नरक कुंड में डाल देगी."
== मिसाइल प्रतिवेदित ==
 
इन मिसाइलों के जरिये सोवियत संघ ने वस्तुतः पूरे महाद्वीपीय संयुक्त राज्य अमेरिका को अपने प्रभावी निशाने पर ले लिया. चालीस लांचरों का आयोजित शस्त्रागार था. क्यूबा की आबादी ने तत्काल मिसाइलों के आगमन और तैनाती पर ध्यान दिया और सैकड़ों रिपोर्ट मियामी पहुंची. यू.एस. (U.S.) खुफिया विभाग को असंख्य रिपोर्ट मिली , उनमें से अनेक संदेहास्पद प्रकार की थीं या हास्यास्पद थीं, और उनमें से अधिकांश को रक्षात्मक मिसाइलें मानकर खारिज किया जा सकता था. केवल पांच रिपोर्टों ने विश्लेषकों को चिंतित किया. उन रिपोर्टों में रात के वक्त शहरों से बहुत लंबे कैनवास से ढंकी सिलिंडरनुमा वस्तुओं को बड़े ट्रकों के जरिये ले जाने के वर्णन थे, जिन्हें बिना मदद और युक्ति के शहरों में मोड़ा नहीं जा सकता था. रक्षात्मक मिसाइलें ऐसा कर सकती थीं. इन रिपोर्टों को संतोषजनक ढंग से खारिज नहीं किया जा सका.<ref name="GWUgraybeal">{{cite web| url = http://www.gwu.edu/~nsarchiv/coldwar/interviews/episode-21/graybeal3.html | publisher = [[George Washington University]], National Security Archive |work=Cold War Interviews | title = Interview with Sidney Graybeal - 29.1.98 | work=Episode 21 |date=March 14, 1999}}</ref>
 
=== यू-2 विमानों ने मिसाइलों को खोज निकाला ===
 
[[चित्र:President Kennedy signs Cuba quarantine proclamation, 23 October 1962.jpg|right|thumb|23 अक्टूबर 1962 को ओवल कार्यालय में राष्ट्रपति कैनेडी क्यूबा के आक्रामक हथियारों के वितरण पर पाबंदी की उद्घोषणा पर हस्ताक्षर करते हैं.]]
सोमवार, 22 अक्टूबर दोपहर 3:00 बजे ईएसटी (EST) बजे राष्ट्रपति कैनेडी ने औपचारिक रूप से राष्ट्रीय सुरक्षा कार्रवाई ज्ञापन (एनएसएएम(NSAM)) 196 के साथ कार्यकारिणी समिति एक्सॉम (EXCOMM) की स्थापना की. शाम 5:00 बजे, वे कांग्रेस के नेताओं से मिले, जो कलहपूर्वक नाकाबंदी का विरोध कर रहे थे और एक तगड़ी प्रतिक्रया की मांग कर रहे थे. मास्को में, राजदूत कोहलर ने अध्यक्ष ख्रुश्चेव को आसन्न नाकाबंदी और राष्ट्र के नाम कैनेडी के भाषण के बारे में बताया. दुनिया भर के राजदूतों ने गैर-[[पूर्वी ब्लॉक|पूर्वी खेमे]] के नेताओं को अग्रिम सूचना दे दी. भाषण से पहले, यू.एस. (U.S.) के प्रतिनिधिमंडल ने कनाडा के प्रधानमंत्री जॉन डिफेनबेकर , ब्रिटिश प्रधानमंत्री हेरोल्ड मैकमिलन, पश्चिम जर्मन चांसलर कोनराड अड़ेनौअर और फ्रांस के राष्ट्रपति [[शार्ल डु गोल|चार्ल्स डी गाल]] के साथ मुलाकात की और उन्हें यू.एस. (U.S.) ख़ुफ़िया विभाग तथा अपनी प्रस्तावित प्रतिक्रिया के बारे में बताया. सभी ने यू.एस. (U.S.) की स्थिति का समर्थन किया.<ref>{{cite web|url=http://www.cubacrisis.net/angl/pages/aubord01.html|title=The Cuban Missile Crisis—Brinkmanship
| last=Buffet |first=Cyril |coauthors=Vincent Touze|accessdate=3 May 2010}}</ref>
 
 
[[चित्र:Adlai_Stevenson_shows_missiles_to_UN_Security_Council_with_David_Parker_standing.jpg|right|thumb|अडलाई स्टेबेंसो क्यूबा के मिसाइल की हवाई तस्वीर 1962 नवंबर को संयुक्त राष्ट्र को दिखाते हैं.]]
गुरुवार, 25 अक्टूबर को संयुक्त राज्य अमेरिका ने [[संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद]] की आपात बैठक बुलाने का अनुरोध किया. सुरक्षा परिषद् की आपात बैठक में यू.एन. (U.N.) में यू.एस. (U.S.) राजदूत अडलाई स्टीवेंसन ने सोवियत राजदूत वैलेरियन ज़ोरीन का सामना करते हुए ऊंची आवाज में रोब जमाने के स्वर में उनसे मिसाइलों के अस्तित्व को स्वीकार करने की मांग की. राजदूत जोरीन ने जवाब देने इंकार कर दिया. अगले दिन रात 10:00 ईएसटी (EST) बजे यू.एस. (U.S.) अमेरिका ने डेफकॉन (DEFCON) 2 बलों के बराबर एसएसी (SAC) बलों के तत्परता स्तर को बढ़ा दिया. अमेरिकी इतिहास में एकमात्र पक्के समय के लिए बी-52 बमवर्षकों को 15 मिनट की नोटिस पर विभिन्न स्थानों के लिए रवाना किया गया और उन्हें पूरी साज-सज्जा के साथ उड़ान भरने को तैयार रहने के लिए कहा गया.<ref name="hpol">{{cite web|url=http://www.hpol.org/jfk/cuban/ |title=The Cuban Missile Crisis, October 18–29, 1962|accessdate=6 May 2010|publisher=History Out Loud |date=August 21 , 1997}}</ref> एसएसी (SAC) के 1,436 बमवर्षकों में से आठवें हिस्से को विमानस्थ रहने के लिए सावधान कर दिया गया था, जबकि एयर डिफेन्स कमांड (एसीडी (ADC)) ने 161 परमाणु-हथियार से लैस अवरोधक विमानों को 16 वितरण क्षेत्रों में नौ घंटे के अंदर पुनः वितरित किया, जिनमे से एक-तिहाई को 15-मिनट की सावधान अवस्था में रखा गया.<ref name="Kamps, Charles Tustin 2007, page 88" />
 
"२२ अक्टूबर तक, सामरिक वायु कमान (टीएसी (TAC)) ने एक घंटे की सतर्क अवस्था में क्यूबा का सामना करने के लिए 511 लड़ाकू विमानों सहित मददगार टैंकरों और टोही विमानों को तैनात कर दिया था. हालांकि, टीएसी और सैन्य एयर ट्रांसपोर्ट सेवा की समस्याएं थीं. फ्लोरिडा में विमानों के जमाव से कमान और सहायक पंक्तियों में तनाव पैदा हुआ; हमें सुरक्षा, हथियारों और संचार में कर्मियों की कमी के संकट का सामना करना पडा; पारंपरिक युद्ध सामग्री के युद्ध-आरक्षित भंडार के लिए आरंभिक अनुमति के अभाव में TAC को मजबूरन उधार लेना पडा; और किसी बड़े हवाई ड्रॉप में सहायता के लिए हवाई परिवहन सामग्री की कमी के कारण 24 रिजर्व स्क्वाड्रनों के लिए भर्ती का आदेश देना जरुरी हो गया.<ref name="Kamps, Charles Tustin 2007, page 88" />
 
=== मीडिया ===
* ''द मिज़ाइल ऑफ़ अक्टूबर'' , एक नाटकीय
* ''थर्टीन डेज़ (पुस्तक)''
* ''थर्टीन डेज़ (फिल्म)''
* ''द फौग ऑफ़ वॉर'' , रॉबर्ट एस. मैकनमारा अमेरिकी रक्षा के अध्यक्ष की एक फिल्म जीवनी.
* ''[[Cuban Missile Crisis: The Aftermath]]'' , इस अवधि में एक वीडियो स्थापित
* इस अवधि में ''द वर्ल्ड नेक्स्ट डोर'' नामक एक उपन्यास स्थापित
* "अनआर्म्ड कॉन्फ्लिक्ट", बरट्रांड रसेल, रस्किन हॉउस- जॉर्ज एलेन एंड अन्विन लिमिटेड, लंडन, 1963
* {{cite video|title=The Cuban Missile Crisis: Declassified|format= Television Program}}
=== हिस्टोरियोग्राफ़ी ===
* एलीसन, ग्राहम. "कंसेप्चूअल मॉडल एण्ड क्यूबन मिसाइल क्राइसेस." ''द अमेरिकन पॉलिटिकल साइंस रिव्यू'' , वोल्यूम 63, नंबर 3 (सितंबर,1969) पृष्ठ 689-719, प्रसिद्ध राजनीतिक शास्त्र आलेख ने तीन मॉडल का उपयोग किया़ विवेकी कर्ता (देश को एक व्यक्ति के रूप में लिया गया है), संगठनात्मक आरचण मॉडल (अपनी प्रक्रिया से संबद्ध एजेंसियां), सरकार राजनीति (कर्ताओं के बीच समझौते से निकला नतीजा)[http://www.jstor.org/pss/1954423 in JSTOR]
* एलीसन, ग्राहम, और फिलिप ज़ेलिको. ''एसेंस ऑफ़ डिसीज़न: एक्स्प्लेनिंग द क्यूबन मिसाइल क्राइसिस'' , (दूसरा संस्करण (1999), 440 पीपी)
* चैंग, लॉरेंस, और पीटर कॉर्नबलुह. चैंग और कॉर्नबलुह को "परिचय", संस्करण. ''क्यूबन मिसाइल क्राइसिस, 1962: अ नेशनल सेक्युरिटी आर्चिव डोक्युमेन्ट्स रीडर'' (1998) [http://www.gwu.edu/~nsarchiv/nsa/cuba_mis_cri/declass.htm इंट्रोडक्शन ऑनलाइन
* गार्टहॉफ, रेमंड एल. "फौरेन इंटेलिजेंस एंड ड हिस्टोरियोग्राफ़ी ऑफ़ द कोल्ड वार," प्रोजेक्ट म्यूस में ''जर्नल ऑफ़ कोल्ड वॉर स्टडीज़'' - खंड 6, नं. 2, स्प्रिंग 2004, पीपी. 21 -56
* जोन्स, जॉन ए., और वर्जीनिया एच. जोन्स. "फाइव पर्सपेक्टिव ऑन द क्यूबन मिसाइल क्राइसिस," प्रोजेक्ट म्यूस में ''रेटोरिक एंड पब्लिक एफेयर्स'' 8.1 (2005) 133-144
* लेबो, रिचर्ड नेड. "डोमेस्टिक पौलिटीक्स एंड द क्यूबन मिसाइल क्राइसिस: द ट्रेडिशनल एंड रिविसनिस्ट इंटरप्रिटेशन रीएवैल्युएटेड," ''डिप्लोमैटिक हिस्ट्री'' , खंड. 14, नं. 4 (फॉल 1990), पीपी. 471-492
 
=== प्राथमिक स्रोत ===