"कम्प्यूटर प्रोग्राम" के अवतरणों में अंतर

छो
पूर्णविराम (।) से पूर्व के खाली स्थान को हटाया।
छो (बॉट से अल्पविराम (,) की स्थिति ठीक की।)
छो (पूर्णविराम (।) से पूर्व के खाली स्थान को हटाया।)
 
== '''क्रमानुदेशन के विभिन्न चरण''' ==
किसी भी प्रोग्राम की क्रमानुदेशन करने के लिये सर्वप्रथम प्रोग्राम के समस्त निर्दिष्टीकरण को भली-भॉंति समझ लिया जाता है।प्रोग्राम मे प्रयोग की गई सभी शर्तो का अनुपालन सही प्रकार से हो रहा है या नही,यह भी जांच लिया जाता है।अब प्रोग्राम के सभी निर्दिष्टीकरण को जांचने-समझने के उपरांत प्रोग्राम के शुरू से वांछित परिणाम प्राप्त होने तक के सभी निर्देशो को विधिवत क्रमबध्द कर लिया जाता है अर्थात प्रोग्रामो की डिजाइनिंग कर ली जाती है।प्रोग्राम की डिजाइन को भली-भांति जांचकर, प्रोग्राम की कोडिंग की जाती है एवं प्रोग्राम को कम्पाईल किया जाता है।प्रोग्राम को टेस्ट डाटा इनपुट करके प्रोग्राम की जांच की जाती है कि वास्तव मे सही परिणाम प्राप्त हो रहा है या नही।यदि परिणाम सही नही होते है तो इसका अर्थ है कि प्रोग्राम के किसी निर्देश का क्रम गलत है अथवा निर्देश किसी स्थान पर गलत दिया गया है।यदि परिणाम सही प्राप्त होता है तो प्रोग्राम मे दिये गये निर्देशो के क्रम को एकबध्द कर लिया जाता है एवं निर्देशो के इस क्रम को संगणक मे स्थापित कर दिया जाता है ।है। इस प्रकार क्रमानुदेशन की सम्पूर्ण प्रक्रिया सम्पन्न होती है।
 
== '''प्रोग्राम के लक्षण''' ==
९.गैस लाईटर जलाये।<br />
१०.एक हाथ से गैस की नॉब को ऑन करें तथा साथ ही लाईटर भी जलाऎ।<br />
११ यदि गैस नही जलती है तो नॉब को ऑफ करे और अब क्रमांक ९ वाली क्रिया को दोहराये ।दोहराये।<br />
१२.यदि गैस जल जाती है तो चाय के भगोने के पानी को तब तक गरम होने दे जब तक कि वह उबलने न लगे।<br />
१३. पानी गरम होने की अवधि मे चाय व चीनी का डिब्बा जिन पर क्रमश: चाय और चीनी लिखा है; और एक चम्मच अपने पास रख लें।<br />
१५.चाय व चीनी के डिब्बो को बन्द करके जहां से उठाये थे वही रख दे।<br />
१६.अब दूध के भगोने मे से एक कप दूध ले लें।<br />
१७.अब पानी के पुनः उबलने पर उसमे कप का दूध डाले ।डाले।<br />
१८.इस मिश्रण के उबलने पर गैस की नॉब को ऑफ कर दे।<br />
१९.एक ट्रे ले।<br />