"स्पार्टा" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
छो
कोष्टक से पहले खाली स्थान छोड़ा।
(→‎बाहरी लिंक्स: सही वर्तनी वाली श्रेणी)
छो (कोष्टक से पहले खाली स्थान छोड़ा।)
'''स्पार्टा''' (डोरिक Σπάρτα; Attic Σπάρτη Spartē) अथवा लासदेमों, दक्षिण-पूर्वी [[पेलोपोन्नेस]] के लैकोनिया में यूरोटस नदी (River Eurotas) के तट पर बसा प्राचीन यूनान का प्रमुख नगर-राज्य था. 10वीं सदी ईसा पूर्व के आसपास यह एक राजनीतिक इकाई के रूप में उस वक़्त उभर कर सामने आया, जब हमलावर डोरियंस ने स्थानीय गैर-डोरियन आबादी को अपने कब्जे में कर लिया. सी. से 650 ईस्वी सन पूर्व से प्राचीन यूनान में यह प्रभावशाली जमीनी सैन्य-शक्ति (स्थल-सेना) बन कर उभरा.
 
अपनी समारिक श्रेष्ठता के कारण, यूनानी-फ़ारसी युद्धों के दौरान स्पार्टा को संयुक्त यूनानी सेना-वाहिनी के समग्र नेता के रूप में मान्यता मिली. ईसा-पूर्व 431 और 404 के बीच,पेलोपोनेशियल युद्ध के दौरान स्पार्टा एथेन्स का प्रधान शत्रु रहा, जिससे यह महान विजेता बनकर उभरा, हालांकि, काफी क्षति उठानी पड़ी. ईसा पूर्व 371 में लेयुकट्रा ( Leuctra) के युद्ध में स्पार्टा को थेबेस के हाथों हार सहनी पड़ी जिसने यूनान में स्पार्टा की महत्ता समाप्त कर दी. हालांकि ईसापूर्व 146 तक इसने अपनी राजनैतिक आजादी बरकरार रखी.
 
अपनी सामाजिक व्यवस्था और संविधान के कारण प्राचीन यूनान में स्पार्टा बेजोड़ था, जिसने सैन्य-प्रशिक्षण और उत्कृष्टता पर पूरी तरह अपना ध्यान केन्द्रित किया. इसके निवासियों को स्पार्टीएट्स (स्पार्टन नागरिकों, जिन्हें संपूर्ण अधिकार प्राप्त थे), मोथाकेस (गैर-स्पार्टन जो स्पार्टन से ही स्वाधीन होकर बाहर आए), पेरियोइकोई (स्वाधीन कर दिए गए लोग), एवं हेलटॉस (सरकार के अधीन कृषिदास, गुलाब बना लिए गए गैर-स्पार्टन की स्थानीय आबादी). स्पार्टीएट्स को सख्त उत्तेजित प्रशिक्षण और शैक्षणिक शासन-प्रणाली से होकर, गुजरना पड़ता था तथा स्पार्टन सिपाहियों के संघटित व्यूह युद्धों में अजेय समझे जाते थे. स्पार्टन महिलाएं पुरुषों की तुलना में विशेषरूप से अधिक अधिकार और समानता उपभोग करती थी जो कि सभ्य सुंस्कृत जगत में कहीं भी उपलब्ध नहीं था.
हेलोट्स को मताधिकार नहीं था, हालांकि यूनान के अन्य भागों के गैर-ग्रीक दासों की तुलना में अपेक्षाकृत रूप से इन्हें विशेषाधिकार कर प्राप्त थे. स्पार्टन कवि टाईरियो (Tyrtaios) ने हेलोट्स के सन्दर्भ में लिखा है कि उन्हें विवाह करने की अनुमति थी. ऐसा मानना है कि उन्हें धार्मिक संस्कार की परिपाटी के पालन की अनुमति भी थी और थूसाइडाइड्स के अनुसार, सीमित राशि में निजी संपत्ति भी रख सकते थे.
 
प्रत्येक वर्ष जब इफोर्स कार्यालय में कार्यभार ग्रहण कर लेते थे वे आनुष्ठानिक तौर पर हेलोट्स के खिलाफ रिवाज के अनुसार युद्ध घोषणा कर देते थे, जिससे कि स्पार्टन धार्मिक संस्कार के प्रदूषण के बिना उनकी हत्या बेधड़क कर सकें. ऐसा लगता है कि यह सबकुछ क्रिप्तिया (sing. κρύπτης),एगोग के स्नातकों द्वारा किया जाता था जो क्रिप्तिया ( Krypteia)के नाम से जानी जाने वाली रहस्यमयी संस्था में भाग लिया करते थे.
 
424 ईसा पूर्व के आसपास स्पार्तियों ने एक सुचिन्तित योजनाबद्ध मंचस्थ अनुष्ठान में 2000 हेलोट्स की हत्या कर दी. थूसाइडाइड्स के विवरण के अनुसार:
 
==== ऐतिहासिक महिलाएं ====
कई महिलाओं ने स्पार्टा के इतिहास में उल्लेखनीय भूमिकाएं अदा की हैं. क्वीन गोर्गो, राजगद्दी की उतराधिकारिणी लेयोनिदस प्रथम की पत्नी एक प्रभावशालिनी तथा अच्छी तरह से प्रलेखित हस्ती थी. हेरोडोटस के रिकॉर्ड के मुताबिक जब वह एक छोटी-सी लड़की थी तभी उसने अपने पिता क्लियोमेनेस (Cleomenes) को रिश्वत के लेन-देन से विरत रहने की सलाह दी थी. ऐसा कहा जाता है कि बाद में चलकर उसने ही एक चेतावनी का कूटानुवाद करने की जिम्मेदारी निभायी थी कि फ़ारसी फौजें यूनान पर हमला बोलने ही वाले हैं; जब स्पार्ती सेनाध्यक्ष मोम में लिपटी लकड़ी की तख्ती पर लिखे कूट-संदेश का कूटानुवाद न कर सके, उसने मोम को साफ-सुथरा कर चेतावनी को खुलासा करने का उन्हें हुक्म जारी किया. प्लूटार्क के मोरालिया (Moralia)में "स्पार्ती महिलाओं की कहावतों" का संग्रह शामिल है, जिसमें गोर्गों पर आरोपित चुटकुले भी हैं: अट्टीका से आई हुई एक महिला के पूछे जाने पर कि स्पार्ती महिलाएं ही संसार में एकमात्र ऐसी महिलाएं हैं जो पुरषों पर शासन कर सकती हैं, जवाब में उसने कहा, "क्योंकि हम लोग ही केवल ऐसी महिलाएं हैं जो पुरुषों की माताएं हैं".
 
== लैकोनोफिलीया ==