"काव्यमीमांसा": अवतरणों में अंतर

1 बाइट जोड़ा गया ,  8 वर्ष पहले
छो
बॉट: अंगराग परिवर्तन
छो (पूर्णविराम (।) से पूर्व के खाली स्थान को हटाया।)
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन)
किसी किसी प्रत्यक्ष कवि का काव्य, कुलवती स्त्री का रूप और घर के वैद्य की विद्या ही अच्छी लगती है। अर्थात् अधिकांश प्रत्यक्ष कवियों का काव्य, कुलवती स्त्रियों का रूप और घर के वैद्यों की विद्या रुचिकर नहीं लगती।
 
== बाहरी कड़ियाँ==
*[https://sa.wikibooks.org/wiki/काव्यमीमांसा '''काव्यमीमांसा'''] (संस्कृत विकिस्रोत)