"भारवि": अवतरणों में अंतर

2 बाइट्स हटाए गए ,  8 वर्ष पहले
छो
विराम चिह्न की स्थिति सुधारी।
(118.102.194.11 (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 2309108 को पूर्ववत किये)
छो (विराम चिह्न की स्थिति सुधारी।)
[[कवि]] हैं। वे अर्थ की गौरवता के लिये प्रसिद्ध हैं ("भारवेरर्थगौरवं")।
[[किरातार्जुनीयम्]] महाकाव्य उनकी महान रचना है। इसे एक उत्कृष्ट श्रेणी
की काव्यरचना माना जाता है ।है। इनका काल छठी-सातवीं शताब्दि बताया जाता है ।है।
यह काव्य किरातरूपधारी [[शिव]] एवं पांडुपुत्र [[अर्जुन]] के बीच के
धनुर्युद्ध तथा वाद-वार्तालाप पर केंद्रित है। [[महाभारत]] के एक पर्व पर