"ऊष्मीय शक्ति संयंत्र" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।
छो (पूर्णविराम (।) से पूर्व के खाली स्थान को हटाया।)
छो (बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।)
 
== विद्युत उत्पादन के उपोत्पाद ==
विद्युत संयंत्र प्रचालन के उपोत्पादों पर डिजाइन और प्रचालन दोनों ही दृष्टियों से विचार करना आवश्यक है। विद्युत चक्र की सुनिश्चित दक्षता के कारण अपशिष्ट ऊष्मा प्रायः कूलिंग टावर का प्रयोग करके, या नदी अथवा झील के पानी का कूलिंग मीडियम के रूप में प्रयोग करके वातावरण में छोड़ी जाती है। फॉसिल ईंधन के जलने से उत्पन्न ईंधन गैस वायु में छोड़ी जाती है ; इसमें कार्बन डाइ-आक्साइड और जलवाष्प, तथा अन्य पदार्थ जैसे नाइट्रोजन, नाइट्रस ऑक्साइड, सल्फर ऑक्साइड, और (कोयला संयंत्रों के मामले में) उड़न राख तथा पारा रहता है। कोयला चालित बॉयलरों से उत्पन्न ठोस अपशिष्ट राख को हटा दिया जाता है। इस राख का निर्माण सामग्री के रूप में पुनः प्रयोग किया जा सकता है।
 
== इन्हें भी देखें ==