"कीटविज्ञान" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् नीकाले गए ,  6 वर्ष पहले
छो
बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।
छो (बॉट से अल्पविराम (,) की स्थिति ठीक की।)
छो (बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।)
=== सहजवृति ===
किसी जीव का एक या अनेक संवेदनाओं के प्रति संवेदनशील होना सहजवृत्ति कहलाता है। सहजवृत्तिवाली क्रियाओं के अंतर्गत नियामक परिवर्ती क्रियाएं (कोऑरडिनेटेड, रिफ्ल़ेक्सेज़ Coordinated reflexes), और आवर्तन की जटिल श्रृंखलाएं होती हैं। भारत के पियरिस ब्रैसिकी (Pieris brassiace) के स्वभाव की अपरिवर्तनीयता इसका एक उदाहरण है। मार्च में कुछ कीट (पियरिस ब्रैसिकी) हिमालय के पार्श्व में उड़ते पाए गए थे। अप्रैल के अंत में प्रति मिनट हजारों की संख्या में हिमाच्छादित शिखर की दिशा में, जहां वे निश्यच ही मृत्यु को प्राप्त हुए होंगे, ये उड़ रहे थे। कोई समझ नहीं पाता कि कौन सी शक्ति इन तितलियों को विनाश की ओर प्रेरित करती हैं। वस्तुत: उन्हें इस सर्वनाश का पूर्वाभास नहीं होता। उसी प्रकार देशांतरण करती हुई टिड्डियाँ किसी प्रकार के अवरोध की परवाह नहीं करतीं। निष्कर्ष यह है कि कीट अपने को असाधरण दशा के अनुकूल बनाने में अयोग्य होते हैं।
 
=== मेधा (इंटेलिजेंस Intelligence) ===
 
== कीटसंघ तथा सामाजिक कीट ==
कीटसंघ किसी एक विशेष जाति का या जातियों का हो सकता है। इस प्रकार का साथ निष्क्रिय अथवा सक्रिय, और कीटजीवन के कुछ ही अंशों तक, अथवा पूरे जीवन भर, चल सकता है।
 
(क) '''निष्क्रिय कीटसंघ'''-बहुधा तरंग, ज्वार भाटा अथवा हवा के प्रवाह के साथ कीट बड़ी संख्या में किसी स्थान पर इकट्ठा हो जाते हैं। इस प्रकार का जमाव प्राय: कुछ जातियों के कीटों के लिए विनाशकारी हो सकता है, किंतु दूसरे प्राणियों के लिए भोजन के रूप में लाभदायक होता है।
 
== सक्रियता का स्थगन ==
विश्राम के प्राय: दो रूप होते हैं : शारीरिक विकास का रुकना, जिसे डायापॉज (Diapause) कहते हैं, और सक्रियता का रूकना, जिसे किनेटोपॉज (Kinetopause) कहते हैं। कीटजीवन की किसी भी अवस्था में शारीरिक विकास रुक सकता हैं, किंतु संभवत: अंडे और प्यूपा अवस्था में यह रुकना बिलकुल स्पष्ट होता हैं। किनेटोपॉज कई प्रकार से हो सकता है, जैसे विश्राम, निद्रा, मूर्छा, ग्रीष्मकालीन निष्क्रियता, शीतकालीन निष्क्रियता और मृत्यु।