"विष्णु सखाराम खांडेकर" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: अंगराग परिवर्तन।
छो (विराम चिह्न की स्थिति सुधारी।)
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन।)
उन्हें मराठी के तमाम पुरस्कारों के अलावा साहित्य अकादमी और भारतीय साहित्य के सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया। सरकार ने उनके सम्मान में 1998 में एक स्मारक डाक टिकट जारी किया था। मराठी के इस चर्चित रचनाकार का निधन दो सितंबर 1976 को हुआ।
 
== सन्दर्भ ==
{{टिप्पणीसूची}}
{{ज्ञानपीठ पुरस्कार}}