"सातवाहन" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।
छो (बॉट: स्रोतहीन चिप्पी को दिनांकित किया।)
छो (बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।)
{{स्रोतहीन|date=सितंबर 2014}}
{| border=1 align=right cellpadding=4 cellspacing=0 width=250 style="margin: 0 0 1em 1em; background: #f9f9f9; border: 1px #aaa solid; border-collapse: collapse; font-size: 95%;" |+<big>''' सातवाहन साम्राज्य '''</big> |- | align=center colspan=2 |[[चित्र:SatavahanaMap.jpg|250px]]<br /><small>सातवाहन साम्राज्य का विस्तार (सतत रेखा), और विजित प्रदेश (टूटी रेखा).</small><br /> |- | '''[[आधिकारिक भाषा]]s''' || [[महाराष्ट्री]] <br />[[संस्कृत]]<br />[[तेलगू भाषा|तेलगू]] |- | '''[[राजधानियां]]''' || [[पैठान]], [[जुन्नार]] और [[धरनीकोटा]]/ [[अमरावती] (गुंटूर के निकट) |- | '''[[सरकार]]''' || [[राजशाही]] |- | '''पूर्ववर्ती''' || [[मौर्य साम्राज्य]] |- | '''परवर्ती''' || [[इक्ष्वांकु]], [[कदम्ब]], [[पश्चिमी क्षत्रप]] |- |}
 
'''सातवाहन''' प्राचीन [[भारत]] का एक राजवंश था। इसने ईसापूर्व २३० से लेकर तीसरी सदी (ईसा के बाद) तक केन्द्रीय [[दक्षिण भारत]] पर राज किया। यह [[मौर्य वंश]] के पतन के बाद शक्तिशाली हुआ था। इनका उल्लेख ८वीं सदी ईसापूर्व में मिलता है पर [[सम्राट अशोक|अशोक]] की मृत्यु (सन् २३२ ईसापूर्व) के बाद सातवाहनों ने खुद को स्वतंत्र घोषित कर दिया था।