"ऍक्स किरण" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् नीकाले गए ,  6 वर्ष पहले
छो
बॉट: छोटे कोष्ठक () की लेख में स्थिति ठीक की।
छो (बॉट: अनावश्यक अल्पविराम (,) हटाया।)
छो (बॉट: छोटे कोष्ठक () की लेख में स्थिति ठीक की।)
एक्सरे का दूसरा विशेष गुणधर्म उनकी ठोस पदार्थो में प्रवेशक्षमता है। भिन्न भिन्न ठोस पिंडों की समान मोटाइयों में से पार होने पर एक्सरे की तीव्रता में जो कमी होती है वह समान नहीं होती। कुछ ठोस पदार्थो में एक्सरे का अवशोषण अधिक होता है ओर कुछ पदार्थो में कम। प्रयोग द्वारा यह फल प्राप्त हुआ कि किसी ठोस विशेष की भिन्न भिन्न मोटाइयों में से यदि एक्सरे पार जाए, तो निर्गत एक्सरे को तीव्रता, प्रारंभिक तीव्रता और ठोस पदार्थ की मोटाई, इन तीनों में निम्नलिखित समीकरण के अनुसार संबंध रहता है :
 
log ( i / i.) = – m × मोटाई --- (1)
 
यहाँ ( i. ) = एक्सरे की प्रारंभिक तीव्रता;
 
i = ठोस पदार्थ में से पार होने के पश्चात्‌ एक्सरे की तीव्रता;