"बोस-आइन्स्टाइन सांख्यिकी" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: कोष्टक () की स्थिति सुधारी।
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन)
छो (बॉट: कोष्टक () की स्थिति सुधारी।)
सांख्यिकीय रूप से, ऊष्मागतीय साम्य की दशा में, ''E<sub>i</sub>'' [[ऊर्जा]] वाले कणों की संख्या ''n<sub>i</sub>'' निम्नलिखित सम्बन्ध के अनुसार होगी-
 
:<math> n_i = \frac{g_i} { \exp ( \frac{ E_i - \mu } {k_{B}T} ) - 1 } \,</math>
जहाँ :
* ''g<sub>i</sub>'' उन प्रावस्थाओं (states) की कुल संख्या है जो ''E<sub>i</sub>'' ऊर्जा वाले हैं।