"वेल्लूर" के अवतरणों में अंतर

15 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
छो
बॉट: कोष्टक () की स्थिति सुधारी।
छो (बॉट: डॉट (.) के स्थान पर पूर्णविराम (।) और लाघव चिह्न प्रयुक्त किये।)
छो (बॉट: कोष्टक () की स्थिति सुधारी।)
 
=== वेल्लोर सिपाही विद्रोह ===
1806 का [[वेल्लोर विद्रोह]] भारत में ब्रिटिश शासन के खिलाफ सबसे पहले विद्रोह के रूप में दर्ज है एवं इसे व्यापक पैमाने पर "आज़ादी की पहली लड़ाई" माना जाता है (हालांकि कुछ इतिहासकार मेरठ के सिपाही विद्रोह को आज़ादी का पहला संग्राम मानते हैं). आज़ादी की लड़ाई में वेल्लोर ज़िला हमेशा अग्रणी रहा. ब्रिटिश सत्ता के खिलाफ [[वेल्लोर किले]] में हुए सन के 1806 के सिपाही विद्रोह को 1857 के महान सिपाही विद्रोह की पूर्वपीठिका माना गया है। इतिहास का यह अंश ज़्यादातर लोगों को ज्ञात नहीं है, लेकिन यह तथ्य वेल्लोर की समृद्ध विरासत में चार चांद लगाता है। इस विद्रोह की याद में किले के सामने एक स्तम्भ स्थापित किया गया है। इसके अलावा, शहर के एक दूसरे हिस्से में उन सेनानियों की स्मृति में एक विशाल स्मारक भी बनाये जाने की योजना है।
 
== भूगोल ==
[[चेन्नई]], [[रोयापुरम]] तथा [[वालाजाह]] के बीच '''दक्षिण एशियाई द्वितीय रेलवे ट्रैक''' के कार्यान्वयन के बाद से यह शहर अपने पड़ोसी औद्योगिक शहरों के साथ सतत औद्योगिक विकास का गवाह रहा है। [[गोल्डेन क्वाड्रीलैटरल]] रोड ने इस क्षेत्र की औद्योगिक गतिविधियों में महत्वपूर्ण इज़ाफा किया है।
 
वेल्लोर IT प्रमुख शहरों ([[चेन्नई]] एवं [[बैंगलोर]]) तथा प्रमुख तीर्थ केन्द्रों ([[तिरुपति]] एवं [[थिरुवन्न्मलाई]]) के बीच अवस्थित है। यहां के हज़ारों पुरुष एवं महिलायें काम के सिलसिले में रोज़ाना [[चेन्नई]] और आसपास के औद्योगिक शहरों में आते-जाते हैं।
 
=== चमड़ा उद्योग ===
[[रानीपत]]-[[SIPCOT]] में स्थित अनगिनत [[रसायन]] उद्योग आय के मुख्य स्रोत हैं। [[BHEL]](भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड - देश में सरकारी स्वामित्व वाले उद्यमों में गिने जाने वाले नवरत्नों में से एक), [[EID पैरी]] (सैनेटरीवेयर उत्पाद विनिर्माण कम्पनी, जिसके पास [[बाथरूम]] के [[सामानों]] की श्रेणी में दुनिया के बाज़ार-शेयर का 38% है), तिरुमलाई केमिकल्स ऐंड ग्रीव्स आदि उन अनेकों अंतर्राष्ट्रीय ब्रैंडों में से हैं,जो यहां पर स्थित हैं। वेल्लोर के पास स्थित शहर [[अराकोनम]] [[MRF]] जैसी प्रमुख कंपनियों का घर है, जबकि [[TVS लुकास]] की प्रमुख निर्माण सुविधाएं शोलीनगर (वेल्लोर से 40किमी. पर स्थित) में हैं।
 
एशिया की सबसे बड़ी विस्फोटक निर्माण कंपनी [[TEL]] (तमिलनाडु एक्सप्लोसिव लिमिटेड) वेल्लोर के [[कत्पदी]] में अवस्थित है।
 
यह शहर [[चिकित्सा-पर्यटन]] के लिए भी बहुत मशहूर है। शहर के ठीक बीचों-बीच स्थित [[CMC हॉस्पिटल]] शहर का सबसे बड़ा निजी नियोक्ता है। यह भारी संख्या में अस्थायी आबादी का निर्माण करता है,जिनमें से ज़्यादातर देश के दूसरे राज्यों एवं विदेशों से आये होते हैं। शहर के केन्द्रीय हिस्से में आवास, आतिथ्य एवं संबद्ध व्यवसाय आय के मुख्य स्रोत हैं। अपोलो KH हॉस्पिटल, मेल्विशरम एवं श्री नारायणी मेडिकल रिसर्च सेंटर, अरियुर आदि अस्पतालों तथा CMC, [[VIT]] जैसे कॉलेजों एवं अन्यान्य इंजीनियरिंग एवं साइंस कॉलेजों के आगमन से आतिथ्य-उद्योग तेज़ी से शहर में अपने पांव पसार रहा है।
SAME-DEUTZ ट्रैक्टर की MNC कंपनी भी वेल्लोर के रानीपत में ही अवस्थित है। भारत के द्वितीय विद्युतीय कार संयंत्र BAVINA को भी वेल्लोर के रानीपत SEZ में स्थापित किये जाने का प्रस्ताव है।
 
MITSUBISHI टूल्स (पूर्व में SRP टूल्स, GREAVES COTTON LTD, वेल्लोर के रानीपत में अवस्थित है।
 
TVS-ब्रेक्स इण्डिया अपने दोनों संयंत्रों - एक ब्रेक्स प्रभाग के लिए तथा दूसरा फाउंड्री प्रभाग के लिए वेल्लोर के शोलिंगुर में व्यापक क्षेत्र लिए हुए है। इसके साथ ही, यह इस इंजीनियरिंग औद्योगिक क्षेत्र में रियल टैलेंट इंजीनियरिंग, लाईट अलॉय प्रोडक्ट्स, शोवा इंजीनियरिंग लिमिटेड जैसे अनेकों आपूर्तिकर्ताओं को भी लिए हुए है।
=== प्रस्तावित/भावी घटनाक्रम ===
[[तमिलनाडु]] सरकार ने वेल्लोर में [[SEZ]] स्थापित करने की घोषणा की है, जिनमें से एक चमड़े के उत्पादों का SEZ [[रानीपत]] में {{convert|260|acre|km2}} पर तथा दूसरा, [[विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र]] [[कट्पडी]] में होगा.
राज्य सरकार के अधीन ELCOT (इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड कॉर्पोरेशन ऑफ तमिलनाडु) द्वारा निजी उपक्रमों के साथ साझेदारी में आगामी वित्तीय वर्ष (2008-2010) में वेल्लोर में एक नए [http://www.hindu.com/2007/02/22/stories/2007022217600600.htm आईटी पार्क] की स्थापना किये जाने की भी प्रस्तावना है।[16]
 
==== चेन्नई-बैंगलोर-मुंबई औद्योगिक कॉरिडोर ====
# BST सॉफ्टवेयर - वेल्लोर में विकसित सॉफ्टवेयर विकास.
# पता: 142, अर्कोट रोड, होटल आवन्ना इन के समीप,निचला तल, वेल्लोर.
(CMC के विपरीत) संपर्क: 0416 4204417, 9787725471, 9940800416.
 
=== स्कूल ===
# होली क्रॉस मैट्रिकुलेशन हायर सेकंडरी स्कूल (मैट्रिक/तमिलनाडु स्टेट बोर्ड पाठ्यक्रम).
# [[इडा स्कुद्दर स्कूल]] (ICSE/ISC पाठ्यक्रम, क्रिस्चन मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल, वेल्लोर की सिस्टर कंसर्न)
# K.A.K.M. (Mpl) हायर सेकेंडरी स्कूल (तमिलनाडु स्टेट बोर्ड पाठ्यक्रम).
# लक्ष्मी गार्डन मैट्रिक हायर सेकंडरी स्कूल. (CBSE पाठ्यक्रम), वेल्लोर
# मद्रास मैट्रिकुलेशन हायर सेकेंडरी स्कूल (मैट्रिक पाठ्यक्रम)
 
=== पुलिस रंगरूट स्कूल ===
पुलिस रंगरूट स्कूल वेल्लोर किले के अंदर स्थित है। हवलदारों की भर्ती के लिए अप्रैल 1908 को वेल्लोर में एक प्रशिक्षण स्कूल खोला गया। आज की तारीख में यह तमिलनाडु राज्य के दो स्थाई पुलिस भर्ती स्कूलों में से एक है (दूसरा [[कोयम्बटूर]] में स्थित है). सरकार को 25 अगस्त, 1897 को लिखे गए अपने पत्र में (सुझावों के साथ) पुलिस महानिरीक्षक ने वेल्लोर में उन पुलिस इंस्पेक्टरों एवं स्टेशन हाउस ऑफिसरों के लिए एक संयुक्त प्रशिक्षण स्कूल खुलवाने की मांग की, जिन्हें छह महीनों का कोर्स करना था। 1909 में, एक पुलिस संग्रहालय को वेल्लोर स्थित पुलिस प्रशिक्षण स्कूल में स्थानांतरित कर दिया गया, जो 1901 से पुलिस महानिरीक्षक के कार्यालय में हुआ करता था। सीधे भर्ती हुए उप-आरक्षी का 1973-74 बैच वेल्लोर में प्रशिक्षण लेने वाला आखिरी बैच था। 1976 में पुलिस प्रशिक्षण कॉलेज को चेन्नई के अशोक नगर में P.T.C के रूप में स्थानांतरित कर दिया गया।स्थानान्तरण के बाद से PTC ट्रेनिंग स्कूल को पुलिस रिक्रुइट स्कूल (PRS) बुलाया जाने लगा. 1990 के बाद LTTE को पुलिस रिक्रुइट स्कूल के हैदर महल में गिरफ्तार किया गया। पिछले 12 सालों से वहां कोई प्रशिक्षण नहीं होता. 2002 से प्रशिक्षण आगे के लिए भी शुरू किया जायेगा.
 
=== वार्डर प्रशिक्षण केन्द्र ===
=== कावलोर वेधशाला ===
 
कावलोर वेधशाला ([[वेणु बाप्पू वेधशाला]] [http://www.iiap.res.in/centers/vbo The Vainu Bappu Observatory]) वेल्लोर जिले के अलंगयम में जावाडी पहाड़ियों ([[पूर्वी घाट]] का एक हिस्सा) के कावलोर में अवस्थित है। यह वेधशाला समुद्र स्तर से 725 मी. ऊपर स्थित है (78°49.6'E देशांतर ; 12°34.6'N अक्षांश) शहरी चकाचौंध एवं औद्योगिक इलाकों से काफी दूर स्थित होने के अलावा, इसके लिए भूमध्य रेखा के नजदीकी स्थान का चुनाव यह सोच कर किया गया था ताकि उत्तरी एवं दक्षिणी, दोनों गोलार्द्धों को समान आसानी से कवर किया जा सके. इसके अतिरिक्त, इसकी देशान्तरीय अवस्थिति ऐसी है कि यह दक्षिणी पिंडों के अवलोकन के लिए ऑस्ट्रेलिया एवं दक्षिण अफ्रीका के बीच एकमात्र प्रमुख खगोलीय सुविधा है।2.3M व्यास वाला [http://www.iiap.res.in/vbo_vbt एशिया का सबसे बड़ा टेलिस्कोप] यहीं स्थित है।
 
=== येलागिरी ===
 
=== चर्च ऑफ साउथ इण्डिया ===
यह दक्षिण भारत के गिरजाघरों के अंतर्गत आता है। यह सबसे बड़े गिरजाघरों में से एक है। RCA (रिफॉर्म चर्च ऑफ अमेरिका) उत्तरी अर्कोट ज़िले में आये और इस गिरजाघर की स्थापना की. यह गिरजाघर तक़रीबन 150 वर्ष पुराना है। पहले यह गिरजाघर फ़िल्टर बेड रोड पर हुआ करता था, सैनिक विद्रोह के दौरान जो ब्रिटिश सैनिक मारे गए थे उन्हें इसी गिरजाघर के आसपास के क्षेत्र में दफ़न किया गया है। यह गिरजाघर कब्रिस्तान की देखरेख के लिए ब्रिटिश सरकार द्वारा प्राधिकृत है।
 
=== अमिर्थी वन ===
 
=== श्रीपुरम ===
[[श्रीपुरम]] स्थित श्रीलक्ष्मी मंदिर, जो [http://www.sripuram.org/ वेल्लोर '''गोल्डेन टेम्पल''' ] के नाम से प्रसिद्ध है, वेल्लोर के थिरुमलाइकोदि में स्थापित एक नया आध्यात्मिक उद्यान/मंदिर है। मंदिर का पूरा वाह्य आवरण सोने की चादरों और प्लेटों से बना हुआ है। बताया गया है कि इस मंदिर के निर्माण की लागत रु.300 करोड़ (3 बिलियन) है। यह मंदिर चारों ओर से विशाल हरे-भरे प्राकृतिक दृश्यावली से घिरा हुआ है। मंदिर तक पहुंचने के लिए सितारे के आकार में बने एक मार्ग से होकर गुज़रना पड़ता है। * [http://www.haivellore.com/how-to-reach-sripuram.php '''चेन्नई, बैंगलोर, तिरुमाला से श्रीपुरम कैसे पहुंचें''' ]
 
[[चित्र:Sripuram Temple Multiple Views.gif‎]]
वेल्लोर तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, केरल तथा कर्नाटक के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। दक्षिण भारत के [[चेन्नई]], [[बैंगलोर]], [[तिरुपति]], [[सलेम]],[[इरोड]], [[मैसूर]],[[चित्तोड़]],[[कुरनूल]],[[त्रिची]],[[थिरुवन्नामलाई]],[[तिन्दिवानम]], [[विल्लुपुरम]], [[कन्याकुमारी]],[[अरानी]], [[कांचीपुरम]], [[कलपक्कम]], [[गुडियथम]] एवं अन्य प्रमुख कस्बों एवं शहरों में सीधी बस सेवाएं उपलब्ध हैं।
 
वेल्लोर NH46 पर अवस्थित है, जो [[बैंगलोर]] एवं [[चेन्नई]] (रानीपत से चेन्नई तक NH 4) एवं [[कुड्डालोर]]-[[चित्तोड़]] राजमार्ग को जोड़ता है।इसी वजह से यह यात्रियों के लिए आवागमन का एक प्रमुख बिंदु बन चुका है। [[गोल्डेन क्वाड्रीलैटरल]] ([[भारत]] का सबसे बड़ा [[राजमार्ग]] परियोजना) ने इस शहर के लिए बैंगलोर एवं चेन्नई दोनों शहरों तक पहुंचना बेहद सुलभ बना दिया है (औसतन,[[चेन्नई]] से 2 घंटे एवं [[बैंगलोर]] से 3 घंटे का सफ़र).
 
वेल्लोर एवं अन्य प्रमुख कस्बों तथा शहरों के बीच दूरी: