"आपेक्षिकता सिद्धांत": अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।
छो (बॉट: छोटे कोष्ठक () की लेख में स्थिति ठीक की।)
छो (बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।)
१) भौतिकी के नियम एक दूसरे के सापेक्ष एकसमान (यूनिफार्म) गति कर रहे सभी निरिक्षकों के लिए '''समान''' होते हैं। (गैलिलियो का सापेक्षिकता का सिद्धान्त)
 
२) [[निर्वात]] में प्रकाश का वेग सभी निरिक्षकों के लिए '''समान''' होता है चाहे उन सबकी सापेक्ष गति कुछ भी हो, चाहे प्रकाश के स्रोत
 
की गति कुछ भी हो।
* किसी निरीक्षक के सापेक्ष किसी दिशा में गतिशील वस्तुओं की लम्बाई उस दिशा में घट जाती है। (Length contraction)
 
* दो घटनायें जिन्हें कोई निरीक्षक 'क' एक साथ (simultaneous) घटित होता हुआ देखता है, किसी दूसरे निरीक्षक 'ख' को वे एक साथ घटित होती हुई '''नहीं''' दिखेंगी यदि दूसरा निरीक्षक पहले के सापेक्ष गतिशील है। (Relativity of simultaneity)
 
* द्रव्य और उर्जा तुल्य हैं; एक को दूसरे के रूप में बदला जा सकता है। इस परिवर्तन में '''E = mc2''' का सम्बन्ध लागू होता है।