"मुक्तक" के अवतरणों में अंतर

168 बैट्स् जोड़े गए ,  11 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''मुक्तक''' [[काव्य]] या [[कविता]] का वह प्रकार है जिसमें कविता की कथावस्तु मुक्त रूप से चलती हॅ। जेसे दोहे, कवित्त या अन्य छन्द । कबीर के दोहे ।
गुरु गोविन्द दोउ खदै काकू लागू पाय गुरु आपने जिन गुरु दियो बताये
 
 
[[श्रेणी: काव्य]]
बेनामी उपयोगकर्ता