"ट्राइऐसिक कल्प" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।
छो (पूर्णविराम (।) से पूर्व के खाली स्थान को हटाया।)
छो (बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।)
 
== विस्तार तथा इस युग में पृथ्वी के धरातल की अवस्था ==
इस युग के निक्षेप मुख्य रूप से दक्षिण-पश्चिम जर्मनी, दक्षिण-पूर्वी यूरोप, मध्य एशिया, हिमालय प्रदेश, चीन, यूनान, न्यूजीलैंड, उतरी अमरिका के पश्चिमी भाग, दक्षिण अमरीका के पश्चिमी भूभाग, स्पिट्सवर्ग ओर बीयर टापू में मिलतें हैं। इस समय जल के दो भाग थे। एक दक्षिण में, जो मेक्सिको से लेकर ऐटलांटिक होता हुआ वर्तमान भुमध्य सागर, हिमालय प्रदेश, दक्षिण चीन, यूनान, हिंदचीन, मलाया द्वीप सागर, न्यूजीलैंड ओर न्यू केलिडोनिया तक फैला था। इसे टेथिस सागर कहतें हैं। दूसरा उतरी समुद्र, जो ऐलैस्का से होता हुआ उतरी ग्रीनलैंड, उतरी ध्रुव, आल्टिक प्रदेश, उतरी-पूर्वी साइबीरिया और मंचूरिया तक फैला था, पृथ्वी का शेष भाग
स्थल था।