"अनिता बोस फाफ" के अवतरणों में अंतर

2 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
छो
बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन)
छो (बॉट: दिनांक लिप्यंतरण और अल्पविराम का अनावश्यक प्रयोग हटाया।)
 
== कैरियर ==
अनिता ने ऑग्सबर्ग यूनिवर्सिटी<ref>[http://www.uni-augsburg.de/en/fakultaeten/wiwi/ Faculty of Business Administration and Economics<!-- Bot generated title -->]</ref> में [[अर्थशास्त्र]] की प्रवक्ता के रूप में शिक्षण कार्य प्रारम्भ किया और प्रोफेसर के पद से रिटायर हुई। उन्होंने अपने पिता की जीवनी पर आधारित एक पुस्तक '''नेताजी सुभाषचन्द्र बोस एण्ड जर्मनी''' अंग्रेजी में लिखी है। यह पुस्तक नेताजी के अन्य जीवनी लेखकों से काफी विचार विनिमय के पश्चात् लिखी गयी है। इस पुस्तक में सुभाषचन्द्र बोस और स्वतन्त्रता संग्राम से सम्बन्धित कुछ तथ्य बहुत ही रोचक हैं। इस पुस्तक की पहली प्रति उन्होंने [[भारत]] आकर यहाँ के राष्ट्रपति [[प्रणव मुखर्जी]] के हाथों में 6 फरवरीफ़रवरी 2013 को [[नई दिल्ली]] स्थित [[राष्ट्रपति भवन]] में स्वयं भेंट की थी। पुस्तक का प्रकाशन इण्डो जर्मन सोसायटी ऑफ इण्डिया के सौजन्य से हुआ है।<ref>[http://presidentofindia.nic.in/ph/pr050213-2.html प्रेस रिलीज़ - राष्ट्रपति भवन]</ref>
 
== मीडिया में==
* [http://www.samaylive.com/nation-news-in-hindi/190502/netaji-subhas-chandra-bose-daughter-anita-bose-pfaff-father-life.html नेताजी के दस्तावेजों को सार्वजनिक करने के पक्ष में: अनिता बोस]
* [http://test.prabhatkhabar.com/node/257410 नेताजी की बेटी चाहती है दस्तावेज़ सार्वजनिक हों]
* [http://navbharattimes.indiatimes.com/india/national-india/successive-governments-neglected-netaji-mystery-anita-bose/articleshow/18204571.cms नेताजी का पता लगाने के लिए सरकारों से जरूरी सहयोग नहीं मिला: अनीता बोस फाफ] - 27 जनवरी, 2013 [[नवभारत टाइम्स]] कोलकाता का समाचार
[[श्रेणी:व्यक्तिगत जीवन]]
[[श्रेणी:इतिहास]]