"रैंकोजी मन्दिर" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।
छो (बॉट: कोष्टक () की स्थिति सुधारी।)
छो (बॉट: विराम चिह्नों के बाद खाली स्थान का प्रयोग किया।)
'''रैंकोजी मन्दिर''' ([[जापानी भाषा|जा]]: 蓮光寺 (杉並区), [[अंग्रेजी भाषा|अं]]: Renkōji Temple) जापान के [[टोकियो]] में स्थित एक बौद्ध मन्दिर है। 1594 में स्थापित यह मन्दिर बौद्ध स्थापत्य कला का दर्शनीय स्थल है।
एक मान्यता के अनुसार [[भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम]] के अग्रिम सेनानी [[सुभाष चन्द्र बोस]] की अस्थियाँ यहाँ आज भी सुरक्षित रखी हुई हैं।
दरअसल 18 सितम्बर 1945 को उनकी अस्थियाँ इस मन्दिर में रखी गयीं थीं। परन्तु प्राप्त दस्तावेज़ों के अनुसार नेताजी की मृत्यु एक माह पूर्व 18 अगस्त 1945 को ही ताइहोकू के सैनिक अस्पताल में रात्रि 21.00 बजे हो गयी थी। जापान के लोग यहाँ प्रति वर्ष 18 अगस्त को नेताजी सुभाषचन्द्र बोस का बलिदान दिवस मनाते हैं।
 
== इतिहास ==